Wednesday, May 31, 2017

लोगों ने अपने आस-पास तम्बाकू पदार्थ के सेवन से रोकने व तम्बाकू छोड़ने के लिए ली शपथ

विश्व तंबाकू निषेध दिवस

विभिन्न कार्यालयों में लगाये गये तम्बाकू निषेध संबंधी फ्लेक्स बोर्ड, ली गई शपथ

बीकानेर, 31 मई 2017। विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर बुधवार को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से विभिन्न कार्यालयों में तम्बाकू निषेध संबंधी फ्लेक्स बोर्ड लगाये गये तथा शपथ ली गई।

              सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एल.डी. पंवार ने बताया कि सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम (कोटपा) 2003 की धारा 4 के अन्तर्गत सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान प्रतिबन्धित है। इसके तहत सार्वजनिक स्थान के प्रमुख प्रवेश द्वार एवं एक्सेस स्थल, जो निरन्तर दृष्टव्य हो, पर धूम्रपान निषेध की वैधानिक चेतावनी का बोर्ड प्रमुखता से लगाया जाना आवश्यक है। इसी की अनुपालना में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के क्षेत्राधिकार में आने वाले किशोर गृह,नारी निकेतन, जिला कार्यालय आदि में पूर्ण तम्बाकू मुक्त परिसर विकसित करने हेतु निर्धारित आकार के विनायल फ्लेक्स बोर्ड भवनों के प्रवेश द्वार, सीढ़ियों आदि पर लगाये गये। साथ ही विभाग द्वारा जिला रोजगार कार्यालय, कार्यालय महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र, खान एवं भू-विज्ञान विभाग, कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंंिभक, कार्यालय जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, कार्यालय सहायक निदेशक, खादी आयोग में भी तम्बाकू निषेध के फ्लेक्स बोर्ड लगाये गये।

 ली गई शपथ- पंवार ने बताया कि नारी निकेतन, बालिका गृह, जिला कार्यालय, बालगृह, शिशुगृह के कार्मिकों द्वारा किसी भी प्रकार के तम्बाकू उत्पाद का सेवन नहीं करने, अपने आस-पास के लोगों को तम्बाकू पदार्थ के सेवन से रोकने के किए जागरूक करने और जो व्यक्ति तम्बाकू छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध होंगे, उनकी यथाशक्ति सहायता करने की भी शपथ ली गई।

          इस अवसर पर जिला उद्योग केन्द्र महाप्रबंधक आर.के. सेठिया, कार्यक्रम अधिकारी नवाब खान, अधीक्षक बालगृह शांतिलाल व्यास, लेखाकार अशोक कुमार गुप्ता, राजकुमार भोजक, मुकेश भाटी, राजेश सोनी, इनायत हुसैन, सुदेश रांकावत, रामकुमार खड़गावत उपस्थित थे।

------- मोहन थानवी

बांग्ला देश के राष्ट्रीय कवि काजी नजरुल इस्लाम ने श्यामा संगीत की रचनाओं को स्वरबद्ध किया था

बीकानेर 31 मई 2017 । शब्दरंग साहित्य एवं कला संस्थान की तरफ से काजी नजरुल इस्लाम का स्मृति दिवस श्री संगीत भारती परिसर में मनाया गया । काजी नजरुल इस्लाम के छायाचित्र पर पुष्पांजलि कर सभी ने अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए । कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए  चेन्नई निवासी जमनादास सेवग ने काजी नजरुल इस्लाम को एक दार्शनिक, संगीत रचनाकार बताते हुए कहा कि काजी साहब कविता, साहित्य लेखन कला मे सिद्धहस्त थे । उन्होंने हिन्दुस्तान व बांग्लादेश के साहित्य में काफी योगदान किया । मुख्य अतिथि समाजसेवी आर.के.शर्मा ने कहा कि काजी नजरुल इस्लाम अंग्रेजों की नीतियों के विरुद्ध लिखा करते थे जिसके कारण उन्हें कई यातनाएं झेलनी पडी । विशिष्ठ अतिथि चन्द्रशेखर जोशी ने कहा कि काजी साहब की आर्थिक स्थिति काफी खराब थी लेकिन वे सच्चाई के रास्ते चलते रहे । बांग्ला देश ने उन्हें राष्ट्रीय कवि का दर्जा दिया । शब्दरंग के सचिव राजाराम स्वर्णकार ने काजी नजरुल इस्लाम के व्यक्तित्व को उजागर करते हुए कहा कि श्यामा संगीत की लगभग एक सौ से ज्यादा रचनाओं को काजी साहब ने स्वरबद्ध किया । इन रचनाओं को  बंगाल में  आज भी गाया जाता है । बंगाल में आज भी श्यामा संगीत को विशेष संगीत मानते  हैं । कार्यक्रम संयोजक डॉ. मुरारी शर्मा ने बताया कि नजरुल इस्लाम का जन्म 24 मई 1899 को हुआ व 29 अगस्त 1976 में नजरुल साहब ने ढाका में देह त्यागी । इनके बंगाली साहित्य पर कलकत्ता विश्वविद्ध्यालय ने 1945 में स्वर्ण पदक प्रदान कर साहित्य का मान बढाया । 1960 में भारत गणराज्य द्वारा पद्मभूषण की उपाधि प्रदान की गई । इस अवसर पर बंगाली कलाकार सपनकुमार भक्ता को दुपट्टा एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया । सपनकुमार ने बंगाली संगीत ‘बोसोंतो ऐ लो ऐलो ऐलो रे’,शोशाने जा गिछे श्यामा मां, आमार कालो मेयेरे पाऐर तलाय सुनाकर चार चान्द लगा दिए । कार्यक्रम में जन्मेजय व्यास ने भी अपने विचार व्यक्त किए । आभार श्री संगीत भारती की प्राचार्य डॉ.कल्पना शर्मा ने ज्ञापित किया । 
- मोहन थानवी

बांग्ला देश के राष्ट्रीय कवि काजी नजरुल इस्लाम ने श्यामा संगीत की रचनाओं को स्वरबद्ध किया था

बीकानेर 31 मई 2017 । शब्दरंग साहित्य एवं कला संस्थान की तरफ से काजी नजरुल इस्लाम का स्मृति दिवस श्री संगीत भारती परिसर में मनाया गया । काजी नजरुल इस्लाम के छायाचित्र पर पुष्पांजलि कर सभी ने अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए । कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए  चेन्नई निवासी जमनादास सेवग ने काजी नजरुल इस्लाम को एक दार्शनिक, संगीत रचनाकार बताते हुए कहा कि काजी साहब कविता, साहित्य लेखन कला मे सिद्धहस्त थे । उन्होंने हिन्दुस्तान व बांग्लादेश के साहित्य में काफी योगदान किया । मुख्य अतिथि समाजसेवी आर.के.शर्मा ने कहा कि काजी नजरुल इस्लाम अंग्रेजों की नीतियों के विरुद्ध लिखा करते थे जिसके कारण उन्हें कई यातनाएं झेलनी पडी । विशिष्ठ अतिथि चन्द्रशेखर जोशी ने कहा कि काजी साहब की आर्थिक स्थिति काफी खराब थी लेकिन वे सच्चाई के रास्ते चलते रहे । बांग्ला देश ने उन्हें राष्ट्रीय कवि का दर्जा दिया । शब्दरंग के सचिव राजाराम स्वर्णकार ने काजी नजरुल इस्लाम के व्यक्तित्व को उजागर करते हुए कहा कि श्यामा संगीत की लगभग एक सौ से ज्यादा रचनाओं को काजी साहब ने स्वरबद्ध किया । इन रचनाओं को  बंगाल में  आज भी गाया जाता है । बंगाल में आज भी श्यामा संगीत को विशेष संगीत मानते  हैं । कार्यक्रम संयोजक डॉ. मुरारी शर्मा ने बताया कि नजरुल इस्लाम का जन्म 24 मई 1899 को हुआ व 29 अगस्त 1976 में नजरुल साहब ने ढाका में देह त्यागी । इनके बंगाली साहित्य पर कलकत्ता विश्वविद्ध्यालय ने 1945 में स्वर्ण पदक प्रदान कर साहित्य का मान बढाया । 1960 में भारत गणराज्य द्वारा पद्मभूषण की उपाधि प्रदान की गई । इस अवसर पर बंगाली कलाकार सपनकुमार भक्ता को दुपट्टा एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया । सपनकुमार ने बंगाली संगीत ‘बोसोंतो ऐ लो ऐलो ऐलो रे’,शोशाने जा गिछे श्यामा मां, आमार कालो मेयेरे पाऐर तलाय सुनाकर चार चान्द लगा दिए । कार्यक्रम में जन्मेजय व्यास ने भी अपने विचार व्यक्त किए । आभार श्री संगीत भारती की प्राचार्य डॉ.कल्पना शर्मा ने ज्ञापित किया । 
- मोहन थानवी

Tuesday, May 30, 2017

फ्लैगशिप योजनाओं की न्यून उपलब्धि की स्थिति में सम्बंधित अधिकारी को सिर्फ बैठकों में समझाएं नहीं बल्कि नोटिस देकर जवाब तलब करें

बीकानेर  30 मई, 2017। फ्लैगशिप योजनाओं की न्यून उपलब्धि की स्थिति में सम्बंधित अधिकारी को सिर्फ बैठकों में समझाएं नहीं बल्कि नोटिस देकर जवाब तलब करें ताकि जवाबदेही तय हो सके। मंगलवार को स्वास्थ्य भवन में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अतिरिक्त जिला कलेक्टर (प्रशासन) यशवंत भाकर ने सीएमएचओ को फ्लैगशिप कार्यक्रमों की पूर्ण तुलनात्मक रिपोर्ट के साथ अलग से समीक्षा के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री राजश्री योजना में एक भी बालिका भुगतान से वंचित ना रहे इसकी पुख्ता व्यवस्था, विशेषकर पीबीएम अस्पताल में ऐसे मामलों की संख्या ज्यादा होने पर नोडल अधिकारी को प्रगति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एएनसी के दौरान ही भामाशाह नामांकन व बैंक खाते का विवरण ले लिया जाए तथा ना हो तो नामांकन सुनिश्चित करवाया जाए। उन्होंने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में कम प्रगति वाली सीएचसी के प्रभारियों को अगली बैठक तक प्रगति सुनिश्चित करने, आदर्श पीएचसी पर कलेवा योजना को संचालित करते हुए शतप्रतिशत प्रसूताओं को पौष्टिक भोजन उपलब्ध करवाने, कुपोषण उपचार केन्द्रों पर अधिकाधिक अति कुपोषितों का उपचार करने व मौसमी बीमारियों की बेहतर रिपोर्टिंग करने के निर्देश दिए।
जिला स्वास्थ्य समिति के सदस्य सचिव व मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने एजेंडावार विभिन्न बिन्दुओं पर गहन पड़ताल करते हुए कहा कि 3000 से अधिक नसबंदी केस के साथ जिला परिवार कल्याण में राज्य में अग्रणी है लेकिन इस उपलब्धि को बाकी 10 माह में भी बरकरार रखा जाए। उन्होंने कायाकल्प कार्यक्रम के तहत अधिकाधिक संस्थानों को पुरस्कार दिलाने की अपील की। निःशुल्क दवा योजना के नोडल अधिकारी डॉ. नवल गुप्ता ने एक्सपायरी हो चुकी दवाओं के नियमानुसार समयबद्ध निस्तारण करने, स्टॉक का भौतिक सत्यापन करने और आवश्यक दवाओं का पर्याप्त मात्रा में स्टॉक रखने के निर्देश दिए। जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुशील कुमार ने हाल ही में निरीक्षण के दौरान सीएचसी-पीएचसी पर पाई गई कमियों व उनके निवारण से सम्बंधित पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन दी। जिला टीबी अधिकारी डॉ. सीएस मोदी ने नवीन गाइडलाइन अनुसार टीबी के इलाज और खांसी के अधिकाधिक मरीजों की स्पुटम जांच रेफरल के निर्देश दिए।  
विश्व स्वास्थ्य संगठन की एसएमओ डॉ. मंजुलता शर्मा ने मिशन इन्द्रधनुष के पुख्ता माइक्रोप्लान की आवशयकता प्रतिपादित की तथा टीकाकरण से वंचित ड्रापआउट व लेफ्टआउट बच्चों को हैड काउंट कर टीकाकरण करवाने के निर्देश दिए। यूनिसेफ के संभागीय समन्वयक ललित रंगा ने नियमित टीकाकरण की मोनिटरिंग के लिए शुरू हुए नए मोबाइल एप ओना के बारे में बताया। एपीडेमियोलोजिस्ट नीलम प्रताप सिंह ने सभी चिकित्सा संस्थानों को धूम्रपान मुक्त घोषित करने और कोटपा एक्ट 2003 के तहत सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वालों पर अधिकाधिक चालान काटने के निर्देश दिए।

विटामिन ए अभियान का हुआ शुभारम्भ

बैठक के दौरान एडीएम यशवंत भाकर ने शहरी क्षेत्र के बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाकर विटामिन ए के 33वें चरण का जिला स्तरीय शुभारम्भ किया। उन्होंने जिले में 3 लाख 65 हजार बच्चों को खुराक पिलाने के लक्ष्य को 30 जून तक शत प्रतिशत प्राप्त करने के निर्देश आरसीएचओ डॉ. रमेश गुप्ता को दिए।

वित्तीय नियमों का हो कड़ाई से पालन

सीएमएचओ डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने सभी संस्थानों को लेखा सम्बन्धी कमियां अगर कहीं हो तो समय रहते दूर करने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगद भुगतान बिलकुल ना किया जाए और ना ही नगद शेष रखने की प्रवृति हो, बैंक रिकोंसिलेशन हर माह तैयार किया जाए और चिकित्सा अधिकारी प्रभारी नियमित इसका पर्यवेक्षण करे। लेखाधिकारी विजयशंकर गहलोत ने स्पष्ट किया कि किसी भी एक मुश्त 30,000 रूपए से अधिक या टुकड़ों में एक साल में 75,000 से अधिक के भुगतान पर टीडीएस अवश्य काटा जाए। सहायक लेखाधिकारी बजरंग लाल व्यास ने नकारा सामान को नियमानुसार नीलाम करने और खरीद में सामान्य वित्तीय एवं लेखा नियमों के अनुसार आवश्यकतानुसार टेंडर की प्रक्रिया करने के निर्देश दिए। जिला लेखा प्रबंधक राजेश सिंगोदिया ने आरएमआरएस की नियमित बैठकें करने, ओपीडी का संग्रहण कम से कम साप्ताहिक नियमित बैंक में जमा करवाने व ओजस वाउचर पर चिकित्सा अधिकारी के हस्ताक्षर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ बेहतर हो समन्वय

महिला एवं बाल विकास तथा चिकित्सा विभाग द्वारा मिलकर बेहतर समन्वय के साथ काम करने के उद्देश्य से बैठक में उपनिदेशक आईसीडीएस रचना भाटिया व समस्त सीडीपीओ भी शामिल रहे। उपनिदेशक ने शत प्रतिशत आंगनवाड़ी केन्द्रों पर आशा सहयोगिनियों के चयन को पूर्ण करने के लिए दोनों विभागों के बेहतर समन्वय व पुख्ता प्रयासों की आवश्यकता प्रतिपादित की तथा सभी चिकित्साधिकारियों के माध्यम से नियमित आँगनवाड़ी केन्द्रों के निरीक्षण की नीति अपनाने की बात रखी। उन्होंने विटामिन ए अभियान को दोनों विभाग के समन्वित प्रयासों से सफल बनाने का आह्वान किया।
- मोहन थानवी

Monday, May 29, 2017

पेंशन के लिए 15 जून तक करवाना होगा सत्यापन

बीकानेर, 29 मई। सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओ में जिन पेंशनधारकों को पेंशन प्राप्त नहीं हो रही है, वे अपने पीपीओ, भामाशाह कार्ड /रसीद, बैंक डायरी की कॉपी तथा आधार कार्ड की प्रतियों के साथ 15 जून तक उपखंड कार्यालय में उपस्थित होकर पेंशन चालू करवा सकते हैं।

         बीकानेर उपखंड अधिकारी नानूराम सैनी ने बताया कि पेंशनरों को इसके लिए व्यक्तिशः उपस्थित होना होगा। साथ ही पेंशनरों से सम्बंधित विवरण उपखंड कार्यालय, कोष कार्यालय तथा नगर निगम कार्यालय में उपस्थित होकर देखा जा सकता है। उन्होंने बताया कि सभी पेंशनरों को ई मित्र पर अपना वार्षिक भौतिक सत्यापन भी अनिवार्य रूप से करवाना होगा। यदि पेंशनर, केन्द्र सरकार की बीपीएल सूची में शामिल है तो इसकी प्रति भी कार्यालय में प्रस्तुत करें। सम्बंधित पेंशनर यदि स्वयं अपना व अपने दस्तावेज का सत्यापन नहीं करवाते हैं, तो इस दशा में पेंशन निरस्त करने की कार्यवाही की जाएगी।

------- मोहन थानवी

न्याय आपके द्वारः 102 शिविरों में 7 हजार 473 प्रकरण निस्तारित

बीकानेर, 29 मई। ‘राजस्व लोक अदालत अभियानः न्याय आपके द्वार’ के तहत ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर आयोजित किए जा रहे शिविरों में दूर-दराज के ग्रामीणों के लिए राहत की बरसात हो रही है। राजस्व लोक अदालत अभियान के तहत गत सप्ताह तक जिले में आयोजित 102 शिविरों में 7 हजार 473 प्रकरण निस्तारित किए गए। इनमें उपखण्ड अधिकारी व एसीईएम न्यायालयों के 750, तथा तहसीलदार न्यायालयों के 6 हजार 723 प्रकरण शामिल हैं।

           उपखंड अधिकारी न्यायालयों में शनिवार तक धारा 136 के 226, धारा 53 के 43, धारा 88 के 77, धारा 188 के 28, इजराय के 21, रास्ता धारा 251 के 34, पत्थरगढ़ी के 3, धारा 183-86 सामान्य के 7, धारा 83,183, 212 आरटी एक्ट के 151, गैर खातेदारी से खातेदारी के145 प्रकरण निस्तारित किए गए हैं तथा म्यूटेशन अपील के 15 प्रकरण प्राप्त हुए। इनमें 343 पुराने तथा 407 नए प्रकरण शामिल हैं।

     इसी प्रकार, तहसीलदार न्यायालयों में धारा 135 के 1 हजार 766, खाता दुरूस्ती के 232, खाता विभाजन के 120, सीमाज्ञान के 9, गैर खातेदारी से खातेदारी के 42, धारा 251 कें 5, राजस्व प्रतिलिपियों के 1 हजार 903 तथा 2 हजार 646 अन्य मामलों का निस्तारण किया गया। साथ ही सीमाज्ञान के 33 आवेदन प्राप्त हुए।

------ मोहन थानवी

सिरेमिक हब बीकानेर में ही बनेगा, बीकानेर की आर्थिक प्रगति में मील का पत्थर साबित होगा लागत लेखाकार संस्थान - मेघवाल

बीकानेर, 29 मई। केन्द्रीय वित्त एवं कम्पनी मामलात राज्य मंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि लागत लेखाकार संस्थान, बीकानेर की आर्थिक प्रगति में मील का पत्थर साबित होगा। बीकानेर में इन्वेस्टमेन्ट बढ़े, इसके लिए यह चैप्टर कुछ प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाएं, जिससे यहां रोजगार के अवसर बढ़ सके।

            वित्त राज्यमंत्री सोमवार को रानीबाजार स्थित होटल पार्क पैराडाइस में बीकानेर में बीकानेर-झुंझुनूं चेप्टर ऑफ द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया के उद्घाटन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आज जो  चैप्टर शुरू  हुआ है, उससे बीकानेर की आर्थिक प्रगति में इजाफा होगा। उन्होंने कहा सिरेमिक हब बीकानेर में ही बनेगा। इसके लिए संबंधित उद्यमी प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाकर भेजें, ताकि बीकानेर में रोजगार के अवसर बढ़ सकें। उन्होंने कहा कि इस संस्थान के अभाव में 500 से एक हजार विद्यार्थियों को कॉस्ट अकाउन्ट की शिक्षा लेने के लिए बीकानेर से बाहर जाना पड़ता था। अब इनके यहां शिक्षा ग्रहण करने पर बीकानेर की जीडीपी में इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि बीकानेर, झुुंझुनूं, नागौर, नोखा, रतनगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू, सरदारशहर, कोलायत, सीकर व हनुमागढ़ के बारहवीं पास विद्यार्थी लागत व प्रबंधन की प्रोफेशनल पढ़ाई बीकानेर में ही कर सकेंगे।

            श्री मेघवाल ने देश की आर्थिक प्रगति की चर्चा करते हुए कहा भारत में ग्लोबल लीडर बनने की ताकत है और यह बहुत तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि कॉस्ट एकाउंटेट्स ऑफ इंडिया एक नया चैप्टर आर्थिक विकास का वातावरण बनाने में सहभागी बने,जिससे देश विश्व को लीड कर सके।

            वित्त राज्यमंत्री ने भुजिया सहित अन्य खाद्य उत्पादों में जीएसटी में कर के संबंध में पूछे गए प्रश्नों का जबाव देते हुए कहा कि 3 जून को जीएसीटी की रिव्यू काउसिंल की बैठक होगी, जिसमें इन उत्पादों पर टैक्स को लेकर चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि भारत सरकार जनता के हित में कार्य कर रही है, इसके लागू होने से व्यापारियों को कोई परेशानी नहीं होगी। अगर कहीं सुधार की जरूरत हुई, तो वह अवश्य किया जायेगा।

इस अवसर पर द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि बीकानेर में इस संस्थान के खुलने से बड़ी संख्या में छात्र प्रवेश ले सकेंगे। यह राजस्थान का छठा तथा भारत का 96वां चैप्टर है। उन्होंने संस्थान का नाम बदलकर द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एंड मैनेजमेंट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया करने की मांग की। इस पर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि यह मामला मंत्रलय में विचाराधीन है। भारत सरकार द्वारा नियुक्त काउंसिल सदस्य सुनील बहल ने कहा कि बीकानेर में सर्टिफिकेट इन अंकाउटिंग टेक्निशियन कोर्स की अच्छी संभावना है। इस कोर्स के विद्यार्थियों के लिए रोजगार के अवसर अधिक है।

            द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया नॉर्दन रीजन के चैयरमेन रवि साहनी स्वागत भाषण दिया तथा कोषाध्यक्ष राजेन्द्र भाटी ने सभी का आभार व्यक्त किया। द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया के काउंसिल सदस्य एच पदमानाभन  ने भी विचार रखे।

----- मोहन थानवी

बीकानेर में संस्कार शिविर शुरू

बीकानेर में संस्कार शिविर प्रारम्भ
बीकानेर 29/5/17। भारतीय सिंधु सभा महानगर की ओर से आयोजित 10 दिवसीय बाल संस्कार शिविर का शुभारम्भ तीन नंबर सेक्टर पवनपुरी में  पूर्व सेल्स टैक्स अधिकारी व वर्तमान में सभा के जिले के संरक्षक श्री कमलेश सत्यानी द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ किया गया। संगठन के प्रचार मंत्री राजकुमार वलीरमानी के निवास पर आयोजित इस शिविर में सहभागियों से खचाखच भरे हाल मे शिक्षक श्री अनिल डेम्बला, कु. गुंजन गंगवानी, श्रीमती यशोदा पारवानी, भारती ग्वालानी ने सिंधी गीतों , कविताओं तथा लोकगीतों पर लय व ताल के साथ अभ्यास करवाया । किशन सदारंगानी द्वारा योगाभ्यास को सभी ने करतल ध्वनि से सराहा । संगठन व कार्यक्रम की जानकारी श्याम आहूजा व हासानन्द ने दी। टीकम पारवानी ने ऐसे शिविरों की उपादेयता बताई। सिन्धु संस्कृति पर सत्यानी जी, राजू वलीरमानी , गणेश सदारंगानी, महादेव बालानी, सुरेश खेसवानी, विजय ऐलानी, राजेश केसवानी ने प्रकाश डाला । व्यवस्था में सहयोग जतिन, सावर मल ने किया । कार्यक्रम मे बड़ी संख्या मे मातृ-शक्ति की उपस्थिति उल्लेखनीय रही । आभार किशन सदारंगानी ने व्यक्त किया । आने वाले दिनों में बीकानेर मे कुल 5 से 6 तथा श्री डूंगरगढ़ मे एक शिविर आयोजित होगा । शिविर में प्रतिदिन बालकों को अल्पाहार में सिंधी व्यंजन दिए जाएंगे व शिविर समापन पर प्रथम तीन विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा।

-- मोहन थानवी

महिलाओं पर होने वाले अत्याचार की हो प्रभावी रोकथाम- बीकानेर जिला कलक्टर

बीकानेर, 29 मई। जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने कहा कि महिलाओं पर होने वाले अत्याचार की प्रभावी रोकथाम के लिए, तत्काल कार्यवाही करते हुए पीड़ित महिला को राहत पहुंचाई जाए।

          जिला कलक्टर सोमवार को कलेक्टे्रट सभागार में जिला महिला सहायता समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने बताया कि समिति द्वारा उत्पीड़ित, निराश्रित महिलाओं को आश्रय, परामर्श, आर्थिक व विधिक सहायता प्रदान की जाती है। उन्होंने निर्देश दिए कि घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम 2005, महिलाओं का कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न(निवारण, प्रतिषेध व प्रतितोष) अधिनियम 2013 तथा महिला अशिष्ट रूपण अधिनियम 1986 के तहत शीघ्र कार्यवाही करते हुए पीड़िता की मदद की जाए। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा संबंधी नियमों व कानून का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।

          बैठक के दौरान महिला अशिष्ट रूपण अधिनियम के तहत महिला शोषण व प्रताड़ना सम्बन्धी प्राप्त एक प्रकरण में जिला कलक्टर ने पीड़ित बालिका को 20 हजार रूपये की आकस्मिक सहायता देने की अनुशंसा की। उन्होंने इस प्रकरण में बालिका को पीड़ित प्रतिकर अधिनियम के तहत भी सहायता दिलवाने हेतु प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए।

         कार्यक्रम अधिकारी, महिला अधिकारिता मेघारतन ने बताया कि घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम के तहत 8 प्रकरण प्राप्त हुए हैं, जिन पर कार्यवाही की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि नवगठित जिला महिला सहायता समिति के जिला कलक्टर अध्यक्ष, पुलिस अधीक्षक उपाध्यक्ष हैं व समिति में 9 सदस्य हैं।

       बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. लालचंद कायल, उपनिदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग एल डी पंवार, समिति सदस्य कमलेश कंवर, अंजू जैन, राजकुमारी व्यास, मीनाक्षी शर्मा, मीना चौहान, पुलिस निरीक्षक सुरेश शर्मा, प्रचेता विजयलक्ष्मी जोशी, एओएस आनंद कुमार व्यास उपस्थित थे।

-------- मोहन थानवी

Sunday, May 28, 2017

10 लाख के डायनिंग हॉल - किचन का उद्धाटन

बीकानेर,28 मई 2017। बीकानेर पूर्व विधान सभा क्षेत्र  विधायक सुश्री सिद्धि कुमारी ने पवनपुरी दक्षिण विस्तार योजना कॉलोनी के सामुदायिक भवन में विधायक निधि कोष से स्वीकृत 10 लाख रूपये की लागत से निर्मित डायनिग हाल मय किचन का रविवार को लोकार्पण किया।  इस अवसर पर आयोजित समारोह में सिद्धि कुमारी ने कहा कि वार्ड 36 में जनहित में जुड़े कार्यों को प्राथमिकता से करवाया जायेगा। मौहल्ला विकास समिति संभावित विकास कार्यों के प्रस्ताव बनाकर दे,जिस पर कार्यवाही करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि विकास में धन की कमी नहीं  आने दी जायेंगी। उन्होंने पवनपुरी दक्षिण विस्तार कॉलोनी को साफ-सथुरा बनाने पर जोर दिया और कहा कि कॉलोनीवासी संगठित रूप  से इस क्षेत्र के विकास के लिए काम करें। इस अवसर पर पवनपुरी दक्षिण विस्तार योजना कॉलोनी विकास समिति के अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने स्वागत भाषण दिया और कहा कि विधायक सुश्री सिद्धि कुमारी का इस क्षेत्र विशेष लगाव रहा है। उन्होंने बताया कि विधायक के सहयोग से वार्ड के सभी सार्वजनिक पार्कों को विकसित किया गया है। सुमन जैन ने सामुदायिक भवन में किचन एवं हॉल के निर्माण को भवन की आवश्यकता बताया और कहा कि विधायक ने यह कार्य करवाकर,क्षेत्रवासियों को सौगात दी है। उन्होंने वार्ड में बंद पड़ी रोड लाइटों को चालू करवाने तथा नई लाइटे लगवाने की मांग की। वार्ड  के पार्षद जमन लाल गजरा ने भी विचार व्यक्त किए। पवनपुरी दक्षिण विस्तार योजना कॉलोनी के सचिव विनोद जोशी ने आवासन मण्डल की इस कॉलोनी को नगर निगम में स्थानान्तरित करने का सुझाव दिया। उन्हाेंंने कहा कि निमग में शामिल होने से इस कॉलोनी में आधारभूत सुविधाओं का विस्तार होगा । समारोह में वेद चतुर्वेदी व धर्मचंद जैन ने विधायक को शॉल ओढ़ाकर व डॉ.के.सी.माथुर,दीपक गोस्वामी,प्रताप सिंह,सेवानिवृत डीपीओ सतीश शर्मा सहित उपस्थित नागरिकों ने पुष्पहार पहनाकर स्वागत एवं अभिनन्दन किया।

                             - मोहन थानवी

दो स्थानों पर निःशुल्क जांच एवं चिकित्सा परामर्श शिविर लगाए

दो स्थानों पर निःशुल्क जांच एवं चिकित्सा परामर्श शिविर आयोजित
बीकानेर, 28 मई 2017।
पुष्करणा वेलफेयर बोर्ड और कल्ला डेंटल केयर के संयुक्त तत्वावधान् में रविवार को कोठारी हॉस्पिटल के सामने स्थित कल्ला डेंटल केयर कैंपस में निःशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर आयोजित किया गया।
बोर्ड अध्यक्ष गोविंद जोशी ने बताया कि शिविर में वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. मनीष बोथरा, दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. राजकुमार कल्ला और डॉ. लक्ष्मण सिंह ने अपनी सेवाएं दीं। उन्होंने बताया कि शिविर में ब्लड प्रेशर, शूगर एवं यूरिक एसिड की जांचें निःशुल्क की गई तथा चिकित्सकीय परामर्श भी दिया गया। उन्होंने बताया कि बोर्ड द्वारा भविष्य में शहरी क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर शिविर आयोजित किए जाएंगे।
वहीं, भगवती लैब द्वारा रविवार को जस्सोलाई स्थित व्यास पार्क में निःशुल्क शूगर, ब्लड प्रेशर एवं वजन जांच शिविर आयोजित किया गया। इस शिविर में लगभग 250 लोगों को लाभांवित किया गया।
भगवती लैब के नितिन आसोपा ने बताया कि लैब द्वारा सामाजिक सरोकारों के तहत प्रत्येक माह के अंतिम रविवार को यह शिविर आयोजित किया जाएगा। इसमें निःशुल्क जांचों के अलावा स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि रविवार को आयोजित शिविर में जुगल राठी एवं लालजी व्यास ने शिविर का शुभारम्भ किया।
शिविर में मारूति आसोपा, कमल मोहता, विचित्र नारायण, रामकुमार ओझा, सुनील सुथार, दामोदर व्यास, बसंत व्यास, मणिशंकर, राघव, केशव एवं चेरी आसोपा ने सेवाएं दीं।
----- मोहन थानवी

Saturday, May 27, 2017

केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री और पंचायती राज मंत्री 162 लागत लेखाकारों के साथ होंगे कल; जीएसटी पर भी होगी चर्चा

बीकानेर 28/5/17 ।  लागत लेखाकार संस्थान के बीकानेर-झुंझुनू चैप्टर का उद्घाटन समारोह  29/5/17 को सुबह 10 बजे होटल पार्क पैराडाइज में होगा। उद्धाटन
केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री  अर्जुन राम मेघवाल और राजस्थान के पंचायती राज
मंत्री  राजेंद्र राठौड़ करेंगे।
चैप्टर के कॉर्डिनेटर राजेंद्र सिंह भाटी ने बताया कि  उद्घाटन सत्र  पश्चात 2:00 बजे GST पर सत्र भी  आयोजित होगा । आयोजन में
चैप्टर के उद्घाटन समारोह
संस्थान के उपाध्यक्ष संजय गुप्ता और चेयरमैन रवि साहनी सहित भारतवर्ष के 162 लागत लेखाकार शिरकत करेंगे ।
- मोहन थानवी