Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2016

​कबीर कहे जग गाये – ‘भरोसे थारे चाले रे सत गुरु म्हारी नांव’

बीकानेर, 12 नवंबर 2016 ( मोहन थानवी ) । कबीर जो रच गए। कबीर जो कह गए । वह जन-जन की वाणी बना। आज कबीर को गाकर जग को गुंजायमान किया जा रहा है। ऐसा हो रहा है बीकानेर से चली कबीर यात्रा द्वारा।



श्रीडूंगरगढ़ में शनिवार को लोकायन संस्थान व बीकानेर पुलिस के संयुक्त तत्वावधान में भंवर-नरसी-पूनम कुलरिया परिवार मूलवास के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम की शुरूआत में अली-गली भाई के अली ने गणेश भजन व ‘भरोसे थारे चाले रे सत गुरु मारी नांव’भजन की प्रस्तुति दी। इसके पश्चात जैसलमेर के लोक कलाकार महेशाराम ने ‘ऐ म्हारी हेली है’ वाणीसुनाकर श्रोताओं की वाही-वाही लूटी। इसके पश्चात कबीर प्रोजेक्ट की निर्देशिका और वाणी गायिका शबनम बिरमानी ने गोरखनाथ, लाधूनाथ, संत रायल इत्यादि संतों की वाणियों को प्रस्तुत की। दिल्ली से आये गायक कलाकार हरप्रीत सिंह ने गिटार पर कबीर के भजनों को गाया। कच्छ गुजरात से आये लोक कलाकार मावजी ने अपनी प्रस्तुति देकर श्रोताओं को मंत्रमुगध कर दिया।इससे पहले ‘राजस्थान कबीर यात्रा : 2016’ पहुंचने पर यहां की विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों, पुलिस प्रशासन एवं सीएलजी सदस्यों द्वारा स्वागत किया ग…