Skip to main content

करतार सिंह / सिन्ध ही नहीं पूरे हिन्दुस्तान के बाल-गोपालों के बचपन के दिन अभी खत्म भी नहीं हुए थे कि उन पर जिन्दगी की जिम्मेवारियों का पहाड़ लाद दिया गया

करतार सिंह / सिंधी से अनूदित उपन्यास का अंश
करतार सिंह : हां यह सच है यार। मेरे जन्म से भी 10-12 साल पहले जन्मा षहीद हेमू कालाणी सन् 1942 में आजादी के लिए हंसते-हंसते फांसी के फंदे पर झूल गया था। उन्हीं की देषभक्ति की बातें सुन-सुन कर ही तो मेरे और तुम्हारे मन में अंगरेजों के विरुद्ध विचारधारा पुख्ता हुई थी।
रोहित: अच्छा दोस्त, अपन बीस साल पहले भी दिल्ली में मिले थे लेकिन तूने यह नहीं बताया था कि तुम्हारा नाम कैसे बदल गया। यार यह तो बता ही डालो मुझे। मेरे मन में यह बात जानने की बहुत उत्कंठा है।
करतार सिंह: छोड़ो यार इस बात को...
रोहित: नहीं यार ऐसे मत कर, बताओ तो सही, देखो जब तक यह बात तुम्हारे मन में दबी रहेगी तब तक तुम भी मन में दुखी होते रहोगे।
करतार सिंह: हां सच कहते हो यार तुम। सुनो, मैं अपना नाम किस तरह गुमा बैठा। कैसे मेरी जिन्दगी को बचाने के लिए एक मुसलमान ने मुझे सलाह दी कि मैं गुरुद्वारे में जाउं और वहां लाहौर के अच्छे माहौल में हिन्दुस्तान-पाकिस्तान के तूफानी दौर में भी सुरक्षित रहूं।
रोहित: यार तुम तो ऐसी बात कर रहे हो जिसमें हिन्दू-मुस्लिम, दोनों का प्रेम जाहिर होता है। भले ही इसके एक पहलू को देखने पर खूनखराबा भी नजर आता है लेकिन असल में तो आपसी प्रेम, भाईचारा अैर सौहार्द अधिक दिखाई देने लगा है मुझे। यार यह बात तो विस्तार से ही बता दे।
करतार सिंह: हां, दोनों तरफ के लोगों की प्रेमगाथा कह सकते हो मेरे नए नामकरण को।
करतार सिंह रोहित को अपनी जिन्दगी के वह पन्ने बताने लगा जिनमें उसका नाम बदल गया था। उसने रोहित को बताया कि वह लारकाणे की जेल से निकल कर सक्खर पहुंचा तो वहां के हालात देख उसका मन कांप गया। वह घबरा गया।
करतार सिंह मानो रोहित को अपने नाम बदलने की बात बताते-बताते लाहौर जा पहुंचा।
विचारों की आंधी चल रही थी। करतार ंिसंह सोच रहा था कि उसके हरिप्रसाद नाम वाले करतार सिंह का समय अब पूरा होने को है। बुढ़ापा आ चुका है। ष्यामला भी पांच साल पहले मुझे इस बेदर्दी दुनिया में छोड़ गई। ष्यामला और दोस्तों के साथ रोहिड़ी-सक्खर व लारकाणे में बिताए वे दिन अब लौट सकते हैं क्या? उस समय सिन्ध ही नहीं पूरे हिन्दुस्तान के बाल-गोपालों के बचपन के दिन अभी खत्म भी नहीं हुए थे कि उन पर जिन्दगी की जिम्मेवारियों का पहाड़ लाद दिया गया। आजादी की जंग में किषोरवय 14 साल के हरिप्रसाद यानी करतार सिंह को अंगरेजों ने जेल में डाल दिया। करांची की जेल में उसे देष के आजाद होने तक रहना पड़ा। इसके बाद समूचे भारत में रोजगार की तलाष में मारे-मारे घूमते नौजवान ही नहीं लगभग हर उम्र के लोगों के झुण्ड अपने भविश्य के प्रति आषंकित हो उठे थे। जात-पांत की दीवारें खड़ी हो रही थी। हिन्दू-मुसलमान के नाम पर आदमी-आदमी को मार रहा था, जला रहा था। सारे देष में हड़ताल, लाठीचार्च, जेल... बंगाल के जादू की हवा चल रही थी। मन में एक-दूसरे के प्रति नफरत का मुलम्मा चढ़ा दिया गया था। ऐसे माहौल में करांची की जेल से बाहर आकर वह लारकाणे पहुंचा तो सबसे पहले ष्यामला के घर गया। वहां पता चला कि ष्यामला का परिवार भारत चला गया है। हरिप्रसाद वहां से रोहिड़ी-सक्खर आया तो उसके पड़ोसी मुसलमानों की सूरत और सीरत बदली हुई थी। उसके बड़े भाई, माता-पिता, छोटे भाई और बहिन का कोई अता-पता नहीं था। जान-पहचान वाले लोग भी हरिप्रसाद से मिले लेकिन वे भी उसे उसके परिवार के सदस्यों की कोई जानकारी नहीं दे सके।

Comments

ये भी पढ़ें ��

पिक्चर क्लीयर है - विजय कोचर, वंदे मातरम मंच बीकानेर

खबरों में बीकानेर 🎤
-✍️ विजय कोचर
वंदे मातरम मंच बीकानेर
विधानसभा चुनाव परिणामों के पश्चात हार जीत का आकलन किया जाएगा लेकिन तकरीबन पिक्चर क्लियर है

अक्टूबर में जो भारतीय जनता पार्टी की स्थिति थी चुनाव की तारीख के नजदीक आते आते कुछ सुधार अवश्य हुआ परंतु दुबारा भाजपा की सरकार बन जाएगी निश्चित नहीं कह सकते

प्रदेश में परिवर्तन के पूरी गुंजाइश थी लेकिन नहीं कर सके संगठनात्मक रूप से हम कमजोर रहे अगर आर एस एस का सहयोग ना मिले तो पार्टी की स्तुति और ज्यादा कमजोर होती

बीकानेर में भी संगठन वाले अपनी पीठ खुद थपथपा रहे हैं किंतु बहुत सारे पार्टी पदाधिकारी पार्षद कितने सक्रिय है किसी से छुपा नहीं है
 पूरे शहर में चुनाव वाले दिन बूथ मैनेजमेंट कमजोर नजर आया संगठन में यस मैन या कैश मैन को वरीयता दी जाती है यह सच्चाई है

2019 लोकसभा चुनाव नजदीक है मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाना है परंतु वर्तमान संगठन ऐसा ही बना रहा तो नुकसान पार्टी का होगा

चुनाव में मौकापरस्त लोगों ने पूरा फायदा उठाया और संगठन चंद लोगों के कठपुतली बन चुका है आशा करता हूं पार्टी को राजस्थान में असफलता का मुंह देखना नहीं पड़े ताकि संगठन…

सास-बहू सम्मेलन : सास-बहू दोनों ही महान, घर-आंगन को दोनों की जरूरत

खबरों में बीकानेर 🎤 बीकानेर ।
सास-बहू सम्मेलन आयोजित गंगाशहर। अखिल भारतीय तेरापंथ महिला महिला मण्डल द्वारा निर्देशित तथा गंगाशहर महिला मण्डल द्वारा साध्वीश्री विशद्प्रज्ञा जी के सान्निध्य में ‘सास-बहू सम्मेलन’ ‘वी केनेक्ट रिलेशन’ का आयोजन शान्ति निकेतन में रखा गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ साध्वीश्री जी द्वारा मंगलपाठ से हुआ। तत्पश्चात् महिला मंडल की बहनों द्वारा ‘प्रेरणा गीत’ का संगान हुआ। मंडल अध्यक्षा मंजू आंचलिया ने सास-बहू एवं उपस्थित सभी बहनों का स्वागत करते हुए सास-बहू के रिश्ते पर प्रकाश डाला और बताया कि सास-बहू के आपसी प्यार, विश्वास और सामंजस्य एवं सूझबूझ से हर समस्यास का समाधान मिल जाता है। सास-बहू दोनों ही महान् है क्योंकि घर के आंगन को दोनों की जरूरत है। इस सम्मेलन में कई जोडि़यों ने अपने विचार रखे। कुछ जोडि़यों ने कविता के माध्यम से तो कुछ ने संवाद के माध्यम से प्रस्तुति दी। साध्वीश्री विशद्प्रज्ञा जी ने बहुत सुन्दर व सरल भाषा में उद्बोधन देते हुए फरमाया कि सास अगर त्याग की मूरत है तो बहू संघर्ष की सूरत है। साध्वीश्रीजी ने सास बहू के मजबूत रिश्ते बनाये रखने की प्रेरणा…

बीते दशकों पर भारी न्यास अध्यक्ष रांका के अब तक के कार्यकाल की उपलब्धियां

*खबरों में बीकानेर* / शहर का चहुंमुखी विकास मेरी सर्वोच्च प्राथमिकताः रांका
बीकानेर 17 नवंबर 2017।  नगर विकास न्यास अध्यक्ष का महत्वपूर्ण दायित्व मुझ जैसे साधारण कार्यकर्ता को दिए जाने के लिए मैं मुख्यमंत्री का हृदय से आभारी हूं। मेरा एक वर्ष का कार्यकाल शहर के विकास के प्रति समर्पित रहा तथा भविष्य में भी शहर का विकास मेरे लिए सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी।
        नगर विकास न्यास के अध्यक्ष महावीर रांका ने गुरूवार को न्यास कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान यह बात कही। इस अवसर पर नगर विकास न्यास सचिव आरके जायसवाल भी मौजूद थे। रांका ने कहा कि 18 नवंबर 2016 को न्यास में अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला। तब उनके सामने अनेक चुनौतियां थीं। नगर विकास न्यास के विरूद्ध 52 करोड़ रूपये की पुरानी देनदारियों लंबित थीं। इनका चुकता करते हुए न्यास को लाभ में लाना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता थी। उन्होंने इसके लिए वरिष्ठ जनप्रतिनिधियों के मार्गदर्शन; न्यास सचिव एवं समस्त अधिकारियों-कर्मचारियों का आभार जताते हुए कहा कि संयुक्त प्रयासों से पुराने दायित्वों का चुकता कर दिया गया।
        रांका ने बताया कि व…

GST खास : परिसरों, भवनों और फ्लैटों के लिए जीएसटी की प्रभावी दरें

खबरों में बीकानेर 🎤
परिसरों, भवनों और फ्लैटों के लिए जीएसटी की प्रभावी दरें
 निर्मित परिसरों, भवनों और तैयार फ्लैटों के खरीददारों को यह सूचित किया जाता है कि ऐसी स्‍थिति में जहां इनकी खरीद सक्षम अधिकारी द्वारा निर्माण पूरा होने का प्रमाण-पत्र जारी करने के बाद की गई हो वहां ऐसी संपत्‍तियों पर वस्‍तु एवं सेवा कर प्रभावी नहीं होगा । जीएसटी केवल उन निर्माणाधीन संपत्‍तियों या  तैयार फ्लैटों पर लगाया जाएगा जिनकी बिक्री के समय तक सक्षम अधिकारी द्वारा उनका निर्माण पूरा होने का प्रमाण-पत्र जारी नहीं किया गया है। जीएसटी लागू होने से पूर्व और जीएसटी लागू होने बाद बिल्‍डरों द्वारा चुकाई जाने वाली प्रभावी दरों की तालिका:- आउट पुट कर चुकाने के लिए बिल्‍डरों को वैट केन्‍द्रीय उत्‍पाद शुल्‍क के मामले में कोई इनपुट टैक्‍स क्रेडिट नहीं मिलेगा। इसिलए इसे संपित्‍त के मूल्‍य में समाहित कर दिया गया है। ऐसा माना गया है कि संपत्‍ति की कुल कीमत में उसमें लगे सामान की हिस्‍सेदारी करीब 45 प्रतिशत होती है। रियायती वर्ग और अन्य वर्गों के लिए  जीएसटी लागू होने के पूर्व की तुलना में प्रभावी जीएसटी में कोई बढ़ोतरी…

जिला स्तरीय रामावत समाज क्रिकेट प्रतियोगिता 23 दिसम्बर से होगी

खबरों में बीकानेर 🎤
जिला स्तरीय रामावत समाज क्रिकेट प्रतियोगिता 23 दिसम्बर से
बीकानेर। वैष्णव ब्राह्मण नवयुवक मण्डल के तत्वावधान में रामावत समाज क्रिकेट प्रतियोगिता-2018 के लिए अंसल सुशांत सिटी स्थित रामावत समाज भवन में बैठक का आयोजन किया गया।  जिला स्तरीय रामावत समाज क्रिकेट व कबड्डी प्रतियोगिता के लिए टाई सभी टीमों के प्रतिनिधि के समक्ष निकाली गई।  क्रिकेट प्रतियोगिता का आगाज 23 दिसम्बर, 2018 को सुबह 10 बजे शार्दुल क्लब मैदान पर होगा जिसमें उद्घाटन मैच महादेव क्लब व वैष्णव सुपर किंग नाल के मध्य खेला जाएगा। 23 दिसम्बर को सायं 6 बजे रामावत समाज भवन में कबड्डी प्रतियोगिता का उद्घाटन मैच खेला जाएगा।  क्रिकेट प्रतियोगिता कें सभी मुकाबले सार्दुल क्लब मैदान में प्रतिदिन तीन मैच खेले जाएंगी तथा कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन रामावत समाज भवन में आयोजित किए जाएंगे।  क्रिकेट प्रतियोगिता में कुल 20 टीमों ने एन्ट्री करवाई है जिसमें पांच-पांच टीमों के चार ग्रुप बनाये हैं। उन्होंने बताया कि लीग मैच 16 ओवर तथा बाकी सभी मैच 20-20 ओवर के होंगे। प्रदेशाध्यक्ष भगवानदास रामावत ने बताया कि प्रतियोगिता का …

देखा क्या :- इन वेबसाइट पर अधिकृत रूप से देखें पांच राज्यों के चुनाव के रूझान और परिणाम

देखा क्या :-  इन वेबसाइट पर दर्शाया जा रहा है पांच राज्यों की विधानसभाओं के सामान्य चुनाव के रूझानों और परिणामों का प्रसार

11 दिसंबर 2018 को पांच राज्यों की विधानसभाओं के सामान्य चुनाव के रूझानों और परिणामों का प्रसार
भारत निर्वाचन आयोग ने अपनी वेबसाइट http://eciresults.nic.in. के माध्यम से पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के रूझानों तथा परिणामों के प्रसार के लिए सुरक्षित संरचना सुविधा स्थापित की है। यह लिंक 11 दिसंबर 2018 को सवेरे 8 बजे से कार्य करने लगेगा और निरंतर रूप से ताजा रूझान और परिणाम दिखाएगा। यह आईसीटी  साल्यूशन में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त मतों को चक्र के अनुसार प्राप्त करता है और संकलन के बाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र, राजनीतिक दल और उम्मीदवार के अनुसार रूझान दिखाता है। भारत निर्वाचन आयोग की मुख्य अधिकारिक वेबसाइट https://eci.gov.in के माध्यम से भी वेबसाइट तक पहुंचा जा सकता है।

 (pib)

अच्छा ! ऐसे पता चलेगा मतगणना परिणाम... राउण्ड वाइज सूचना जेनेसिस एवं राज इलेक्शन पोर्टल पर अपलोड की जाएगी

खबरों में बीकानेर 🎤  तैयारियां पूर्ण, मंगलवार प्रातः 8 बजे से शुरू होगी मतगणना
बीकानेर,10 दिसम्बर। विधानसभा चुनाव 2018 की मतगणना मंगलवार को प्रातः 8 बजे से पाॅलिटेक्नीक महाविद्यालय में शुरू होगी। जिला निर्वाचन अधिकारी डाॅ.एन.के.गुप्ता ने बताया कि जिले की सात विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की मतगणना के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है।   मतगणना कुल 14 कक्षों में की जायेगी। प्रत्येक विधानसभा की मतगणना दो-दो कक्ष में की जायेगी और प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए 15 मतगणना टैबल लगाई गई है। सर्वप्रथम रिटर्निंग अधिकारी द्वारा डाक मतपत्रों की गणना का कार्य किया जाएगा। इसके बाद सहायक रिटर्निंग अधिकारी द्वारा ईटीपीबीएस के जरिए सेवा नियोजित मतदाताओं से प्राप्त मतपत्रों की गणना की जाएगी। मतगणना हाॅल में सभी गणना टेबलों पर पूर्व का राउण्ड पूर्ण होने पर ही अगला राउण्ड प्रारम्भ किया जाएगा। टेबल वाइज परिणाम मतगणना स्थल पर लगाए गए बोर्ड पर प्रदर्शित किया जाएगा। मतगणना की राउण्ड वाइज सूचना जेनेसिस एवं राज इलेक्शन पोर्टल पर अपलोड की जाएगी। डाॅ गुप्ता ने बताया कि राउण्ड वाइज परिणाम तैयार कर प्रत्येक राउ…

कांग्रेस की सरकार बनने से राज्य में रुके हुए विकास कार्यो को नए आयाम मिलेंगे - सुनीता गौड़

शहर जिला महिला कांग्रेस की जिला अध्यक्ष सुनीता गौड़ ने विधानसभा चुनाव 2018 के नतीजों के बाद एक बयान जारी कर कहा की राजस्थान की जनता जनार्दन ने कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत प्रदान कर पार्टी की रीति नीतियों में विश्वास व्यक्त किया है। अहंकारी भाजपा सरकार का अंत होकर अब गरीब, मजदूर, किसान और युवा शक्ति की लोकप्रिय सरकार का गठन हो सकेगा। लोगो को महंगाई से राहत और बेरोजगारों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। कांग्रेस राज में शुरू की गई लोक कल्याणकारी योजनाओ को भी पूरी शिद्दत के साथ लागू किया जा सकेगा। राज्य की जनता, खास तौर पर महिलाओं और युवाओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर एक लोकप्रिय जनसरकार के गठन पर अपनी मौहर लगाई है। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने से राज्य में रुके हुए विकास कार्यो को नए आयाम मिलेंगे। यह सरकार लोगो के आशाओं पर खरा उतर कर आम जन को राहत पहुचायेगी। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की दूरदर्शिता और सचिन पायलट की लगन और कांग्रेस पार्टी के  कार्यकर्ताओं की मेहनत की जीत हुई है। 
बीकानेर के अनुभवी राजनेता डॉ बी.डी कल्ला, कोलायत से भंवर सिंह भाटी, खाजूवाला से गोविंद राम मेघवाल की शानदा…

जिले में 75% से अधिक हुआ मतदान

खबरों में बीकानेर 🎤
जिले में  75 प्रतिशत से अधिक हुआ मतदान बीकानेर, 7 दिसम्बर। जिले में 7 विधानसभा क्षेत्रों में शुक्रवार को हुए मतदान में लगभग 75.03 प्रतिशत मतदान हुआ।  प्राप्त अनुमानित आंकड़ों के अनुसार बीकानेर पश्चिम में 74.88, बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में 67.82, श्रीडूंगरगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 77.05, खाजूवाला में 73.40, नोखा में 77.38, कोलायत में 77.84 और लूणकरनसर विधानसभा क्षेत्र में 76.34 प्रतिशत मतदान हुआ।   बीकानेर ।

दु:खों से मुक्ति का रास्ता है ईश्वर आराधना, कलश यात्रा के साथ श्रीमद्भागवत कथा शुरू

खबरों में बीकानेर 🎤
दु:खों से मुक्ति का रास्ता है ईश्वर आराधना कलश यात्रा के साथ श्रीमद्भागवत कथा शुरू
बीकानेर। श्रीमद्भागवत कथा आयोजन समिति के तत्वाधान में अग्रसेन भवन में श्रीमद्भागवत  कथा ज्ञान यज्ञ का शुभारंभ हुआ। त्रयम्बकेश्वर चैतन्य महाराज के शिष्य किशोरीलाल जी  महाराज ने भागवत कथा के महत्ता पर श्रद्धालुओं को प्रवचन करते हुए कहा कि संसार दु:खों  का सागर है तथा प्रत्येक प्राणी किसी न किसी तरह से दु:खी व परेशान है। उन्होंने कहा कि कोई  स्वास्थ्य से दु:खी है, कोई परिवार, कोई धन, तो कोई संतान को लेकर परेशान है। सभी  परेशानियों से मुक्ति पाने के लिए ईश्वर की आराधना ही एकमात्र मार्ग है। इसलिए व्यक्ति को  अपने जीवन का कुछ समय हरिभजन में लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भागवत कथा वह  अमृत है। जिसके पान से भय, भूख, रोग व संताप सब कुछ स्वत: ही नष्ट हो जाता है। उन्होंने क हा कि व्यक्ति को मन, बुद्धि, चित एकाग्र कर अपने आप को ईश्वर के चरणों में समर्पित करते  हुए भागवत कथा को ध्यानपूर्वक सुनना चाहिए। कथा के पहले दिन शुक पूजन, व्यास पूजन के  साथ कथा का शुभारंभ किया गया। आयोजन से जुड़े ताराचंद अ…