Sunday, September 16, 2012

दाणो पाणी परसराम बाह पकड़ ले जात!!!


मायड भाषा --
अंजळ बडो बलवान ! .....
जहा का दाना-पानी लिखा हो मनुष्य को वहीँ
जाना होता है! ....
 कित कासी कित कासमीर खुरासाण गुजरात --
दाणो पाणी परसराम
बाह पकड़ ले जात!!!