Monday, June 5, 2017

बच्चे बोले, घर-बाहर बोलो सिंधी

बीकानेर 5/6/17। चालीस से
अधिक बच्चो के सामूहिक सिन्धी
गान से गूंजते सुदर्शन पवनपुरी इलाके
का अमरलाल मंदिर में मौजूद
अतिथियों ने उस वक्त तालियों से
प्रसन्नता प्रकट की जिस वक्त सभी
बच्चों ने आह्वान किया, घर-बाहर
सभी बोलो सिन्धी। अवसर था
भारतीय सिंधु सभा महानगर की ओर
से आयोजित बाल संस्कार शिविर के
समापन समारोह का। संगठन के
प्रचार मंत्री राजकुमार वलीरमानी के
निवास एवं मंदिर में लगाए शिविर कें
सभी 40 प्रतिभागी बच्चों एवं
प्रशिक्षक, प्रभारियों व सहभागियों का
अतिथियों ने समान किया। अतिथि
खेमचंद मूलचंदानी, मनुमल
सदारंगानी, मानसिंह मामनानी, पार्षद
झामन लाल सिंधी, डॉ. सुनील
मेहरचंदानी, जयश्री मेहरचंदानी ने
बच्चों को प्रतीक चिन्ह भेंट किए।
शिक्षक अनिल डेबला, कु. गुंजन
गंगवानी, श्रीमती भारती पारवानी के
साथ बच्चों ने भी सिंधी गीतों व
कविताओं की प्रस्तुतियां दी। संगठन
मंत्री बहुभाषी साहित्यकार मोहन
थानवी ने बच्चों से संवाद करते हुए
शिविर में सीखे ज्ञान को अन्य बच्चों
तक पहुंचाने की बात कही। किशन
सदारंगानी, हासानन्द मंघवानी, टीकम
पारवानी, केशव खत्री ने सिन्धु
संस्कृति के बारे में जानकारी दी व
शिविर की गतिविधियों पर प्रकाश
डाला।
महादेव बालानी, सुरेश
केसवानी, विजय ऐलानी, राजेश
केसवानी ने बच्चों में छुपी प्रतिभा को
मंच प्रदान करने की आवश्यकता पर
बल दिया। विजय ऐलानी व राजेश
केसवानी ने छह जून को सुबह आठ
बजे झूलेलाल मंदिर अमरलालनगर
रथखाना में बाल संस्कार शिविर
आरंभ किए जाने की घोषणा की।
आभार मंदिर के सेवक मोन्टू महाराज
ने ज्ञापित किया।
- मोहन थानवी