Friday, June 23, 2017

आनंदगढ़ में सीमा मित्र विकास शिविर आयोजित

आनंदगढ़ में सीमा मित्र विकास शिविर आयोजित

जल संसाधन मंत्री एवं संसदीय सचिव ने सुनी जनसमस्याएं 

बीकानेर, 23 जून। सीमांत क्षेत्र के लोगों की समस्याओं के निराकरण एवं विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के उद्देश्य से आयोजित ‘सीमा मित्र विकास शिविर’ की श्रृंखला में शुक्रवार को खाजूवाला की आनंदगढ़ ग्राम पंचायत के अटल सेवा केन्द्र में शिविर आयोजित हुआ।

सीमा सुरक्षा बल की 157वीं बटालियन द्वारा आयोजित इस शिविर में जल संसाधन मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री डाॅ. रामप्रताप, संसदीय सचिव डाॅ. विश्वनाथ मेघवाल, संभागीय आयुक्त सुवालाल तथा पुलिस महानिरीक्षक बिपिन कुमार पांडे ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। प्रभारी मंत्री ने कहा कि सीमांत क्षेत्र के नागरिकों को केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाआंे से लाभांवित करने के उद्देश्य से यह शिविर बेहद लाभदायक सिद्ध होंगे। उन्होंने बीएसएफ की इस पहल को सराहनीय बताया तथा कहा कि इससे ग्रामीणों और बीएसएफ का समन्वय बढ़ेगा।

संसदीय सचिव डाॅ. विश्वनाथ मेघवाल ने कहा कि सीमांत क्षेत्रों में आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार की मंशा है कि अंतिम छोर तक बैठा व्यक्ति भी समाज की मुख्यधारा से जुड़े। उन्होंने कहा कि बीएसएफ, ग्रामीणों के मित्र हैं। ये सीमा क्षेत्र की रक्षा के साथ सामाजिक सरोकारों का निर्वहन कर रहे हैं। 

संभागीय आयुक्त सुवालाल ने कहा कि संभाग के सीमांत क्षेत्रों के आठ गांवों में ‘सीमा मित्र विकास शिविर’ आयोजित किए जा रहे हैं। इनमें बीकानेर और श्रीगंगानगर जिले के चार-चार शिविर सम्मिलित हैं। उन्होंने कहा कि इन शिविरों में बीएसएफ ने सराहनीय पहल की है। महानिरीक्षक पुलिस बिपिन कुमार पांडे ने कहा कि सीमांत क्षेत्र में किसी प्रकार की अवांछनीय गतिविधि नहीं हो, इसके प्रति आमजन भी जागरूक रहें। बीएसएफ की 157वीं बटालियन के समादेष्टा ए.के. उपाध्याय ने  बीएसएफ द्वारा आमजन के कल्याणार्थ किए जाने वाले कार्यों के बारे में बताया।

इस अवसर पर उपखण्ड अधिकारी ओमप्रकाश सहारण, उपसमादेष्टा जयकरण, आनंदगढ़ सरपंच पवन पूनिया सहित पुलिस, प्रशासन एवं बीएसएफ के अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीण मौजूद थे।

---- मोहन थानवी