Skip to main content

मिलकर मिटाएंगे भ्रूण हत्यारों का आतंक

बीकानेर 26/5/17। लिंगानुपात में सुधार को लेकर संचालित विभिन्न गतिविधियों को सुदृढ़ करने के लिए शुक्रवार को उदयपुर में अंतरराज्यीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। जिसमें राजस्थान एवं गुजरात के सीमावर्ती जिलों की भागीदारी बढ़ाने और समन्वय बिठाने के लिए दोनों राज्यों के अधिकारी शामिल हुए। एनएचएम मिशन निदेशक नवीन जैन की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यशाला में बीकानेर से राज्य डेकोय दल के सदस्य जिला पीसीपीएनडीटी समन्वयक महेंद्र सिंह चारण ने भाग लिया। इसके अतिरिक्त पीसीपीएनडीटी पीडी रघुवीर सिंह, गुजरात के प्रमुख शासन सचिव जनस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के जेपी गुप्ता, नेशनल हेल्थ मिशन के मिशन डायरेक्टर गौरव दहिया, अरवल्ली, दाहोद, सांबरकांठा, बनासकांठा, माहीसागर के जिला कलक्टर, सीडीएचओ, विधिक अधिकारी सहित उदयपुर संभागीय आयुक्त श्री भवानी सिंह देथा, उदयपुर जिला कलक्टर विष्णु चरण मलिक एसआरकेपीएस स्वयंसेवी संस्था के राजन चैधरी तथा सिरोही, राजसमन्द, बाड़मेर, उदयपुर, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, जालौर के सीएमएचओ एवं बाड़मेर के विक्रम सिंह चंपावत ने शिरकत की।
एमडी नवीन जैन ने बताया कि राजस्थान एवं गुजरात राज्यों के पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ तथा प्लान इण्डिया व एसआरकेपीएस स्वयंसेवी संस्था के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस कार्यशाला में पीसीपीएनडीटी एक्ट को प्रभावी बनाते हुए सोनोग्राफी तकनीक के दुरूपयोग को रोकने, डिकॉय ऑपरेशन की प्रभावी क्रियान्विति के लिए साझा रणनीति तैयार करने पर विस्तार चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि लिंग जांच करने और भ्रूण हत्यारों  के आतंक के खिलाफ मिलकर लड़ाई जारी रहेगी। सामूहिकता के साथ इस कलंक को देश से मिटाया जाएगा।

कारगर साबित होती मुखबिर योजना
श्री जैन ने बताया कि लिंग जांच कर गर्भपात करवाने वालों तक पहुंचने एवं उनके विरूद्ध उचित कार्यवाही करने के लिए राज्य सरकार की मुखबिर योजना कारगर साबित हो रही है। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 2.50 लाख की राशि का प्रदान करने का प्रावधान है जिसमें गर्भवती महिला को 1 लाख, मुखबिर को एक लाख एवं सहयोगी को 50 हजार रुपये सरकार की ओर से पुरस्कार स्वरूप दिये जाते हैं। राज्य सरकार ने इस योजना के तहत करीब 32 लाख रूपये प्रदान किये हैं।

- मोहन थानवी

Popular posts from this blog

देश के भविष्य को नए आयाम देने के मार्ग पर चल रही मेधावी छात्राओं को स्कूटी मिली; हैलमेट मिलेगा

मेधावी छात्रा स्कूटी वितरण कार्यक्रम के तहत 44 छात्राएं हुई लाभांवितबीकानेर, 20 जुलाई 2017 ( मोहन थानवी )।  देश के भविष्य को नए आयाम देने के मार्ग पर चल रही 44 मेधावी छात्राओं के चेहरे खिले हुए थे मगर वे बातें धीर-गंभीर कर रहीं थीं। एक छात्रा ने कहा; अरे सुन तो... मैं तो स्कूटी चला कर घर नहीं जा पाऊंगी। दूसरी का सवाल था - क्यों ? उसे जवाब मिला; यार मेरे पास तो  न हैलमेट है न लर्निंग लाइसेंस। चैकिंग में फंस गई तो ? स्कूटी मिलने की खुशियां मनाती इन छात्राओं की बातचीत में जहां व्यवस्था के अनुसार चलने का ज्बा था वहीं शहर में ट्रैफिक सुचारु बनाए रखने के लिए की जाने वाली चैकिंग के प्रति सम्मान भी झलक रहा था मगर इन सब पर  प्रोत्साहन में स्कूटी मिलने की खुशी सबसे बड़ी थी। ऐसा नजारा हुआगुरूवार को राजकीय महारानी सुदर्शन कन्या महाविद्यालय में जहां समारोह में 44 मेधावी छात्राओं को स्कूटी वितरित की गई। इस मौके पर गत वर्ष स्कूटी प्राप्त करने वाली 35 छात्राओं हैलमेट दे चुके संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल ने इस बार स्कूटी प्राप्त करने वाली सभी 44 छात्राओं को भी यातायात नियमों की अनुपालना करने का आह्…

बीकानेर : स्थापना दिवस मना रहा है शहर

बीकानेर : स्थापना दिवस मना रहा है शहर

जयपुर-दिल्ली बाइपास पर हुआ बीकाजी के भव्य शोरूम का उद्घाटन

जयपुर दिल्ली बाईपास पर बीकाजी के भव्य शोरूम का उद्घाटन  माननीय श्री शिवरतन जी अग्रवाल (फन्ना बाबू) बीकाजी ग्रुप के चेयरमैन राजस्थान सरकार के वरिष्ठ अधिकारी एआईएस निरंजन जी आर्य के हाथों संपन्न हुआ  इस अवसर पर मक्खनलाल अग्रवाल घनश्याम लखाणी विष्णु पुरी हेतराम गौड रविंद्र जोशी महेंद्र अग्रवाल सूरजमल खंडेलवाल व शोरूम के सभी संचालक मौजूद रहे।