Thursday, April 13, 2017

बीकानेर पुलिस की बड़ी उपलब्धि : साइबर क्राइम के इंटरनेशनल गैंग का पर्दाफाश


नाइजीरिया, अफ्रीका तक आरोपियों के हाथ

विशेष  :- सावधान, आपके धन पर है ठगों की नजर
- मोहन थानवी
बीकानेर 12/4/17। साइबर क्राइम के इंटरनेशनल गैंग का खुलासा करने में बीकानेर पुलिस कामयाब रही है। बीकानेर एसपी कार्यालय में एक युवती द्वारा साइबर ठगी संबंधी पेश परिवाद में शोध करते हुए बीकानेर पुलिस ने पहली बार साइबर क्राइम के अन्तरराष्ट्रीय गैंग के चार आरोपियों को गिरफ्त में लिया है इनमें से एक महिला वकील है । परिवादी महिला ने उससे 56 लाख रुपये की ठगी का मामला बताया था जिसका खुलासा करते हुए एक महिला सहित चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जिसमें बीकानेर के साइबर एक्सपर्ट योगेन्द्र सुथार का योगदान सराहनीय रहा है। आरोपियों के कब्जे से करीब तीन लाख रुपये बरामद किए गए है। बुधवार को प्रेस कान्फ्रेंस में पुलिस महानिरीक्षक विपिन कुमार पाण्डेय ने बताया कि शादी के नाम पर 56 लाख की ठगी के मामले में पुलिस ....( और आगे जारी.....)

सराहनीय पुलिस टीम

गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम में लक्ष्मणसिंह थानाधिकारी पुलस थाना सदर, मनोज शर्मा थानाधिकारी जामसर, सुभाषचन्द्र थानाधिकारी पुलिस थाना कालु, परमेश्वर सुथार थानाधिकारी पुलिस थाना पांचू, पुष्पेन्द्रसिंह कानि., ओमप्रकाश कानि. सीआईयु बीकानेर, मनफूल कानि. सीआईयु बीकानेर, राजेश कुमार चालक सीआईयु बीकानेर का योगदान रहा है।

*विशेष :-*
*सावधान, आपके धन पर है ठगों की नजर अपराधियों को गिरफ्तार कर अपराध मुक्त समाज निर्माण में पुलिस अपनी भूमिका बदस्तूर निर्वहन करती है। समाज का भी दायित्व है कि ऐसे समाजकंटकों को पहचाने और सूचनाएं पुलिस को उपलब्ध करवाए। विशेष रूप से स्वयं के साथ घटने वाली ठगी की वारदातों को ध्यान में रखते हुए हर व्यक्ति किसी पर भी अपने रुपए-पैसे और जेवरात, सम्पत्ति संबंधी कागजात के मामले में विश्वास नहीं करे तो किसी हद तक इंटरनेट और मोबाइल, टेलीफोन के माध्यम से होने वाली ठगी की वारदातों पर काबू पाया जा सकता है। कुछ ऐसा कहना है बीकानेर एस पी डॉ अमनदीप सिंह कपूर का। साइबर क्राइम के इंटरनेशनल गैंग का पर्दाफाश कर बीकानेर पुलिस की उपलब्धियों को बढ़ाने वाले पुलिस महानिरीक्षक विपिन कुमार पाण्डेय और एस पी डॉ अमनदीप सिंह कपूर ने प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान आह्वान किया कि समाज का प्रत्येक घटक एवं हर व्यक्ति जागरूक होकर अपराधों की रोकथाम में अपनी भूमिका निभाए। खास तौर से ध्यान रखा जाए कि आपकी अपनी गुप्त सूचनाएं और रुपए किसी अन्य के हाथ न लगने पाएं। सावधान रहें, आपके धन पर ठगों की नजर हो सकती है इसलिए अपने खाते, लॉकर आदि के पासवर्ड, कोड आदि किसी को नहीं बताएं।*

नाइजीरियन और आरोपी गैंग के अन्य लोगों को गिरफ्त में लेने के लिए पुलिस टीमें गठित
नाईजीरियन तथा इस गैंग के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें बनाई जाकर गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे है।
आरोपियों के खाते में अभी जमा है 35 से 40 लाख रुपये
पुलिस महानिरीक्षक के ....

यह है मामला
29 नवम्बर को नीतू शर्मा निवासी बीकानेर ने एक परिवाद एसपी कार्यालय में पेश की तथा बताया कि मैंने जीवन साथ डॉट कॉम की मैट्रोमोरियल वेबसाईट पर अपनी प्रोफाइल अपलोड की थी जिसके माध्यम से यू.के. पारस प्रेमकुमार की मुझ से व्हाट्सएप से सम्पर्क किया तथा हमारे बीच बातचीत होने लगी। फिर उसने बताया कि मैं यूएन एयरफोर्स में एयरकाफ्ट इंजीनियर हूं तथा ईराक में...शेष...http://ajmernama.com/rajasthan/203551/#sthash.A0gJWaHW.xiqq