Wednesday, December 13, 2017

वाई-फाई हुआ बीकानेर रेलवे स्टेशन

रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई सुविधा से यात्रियों को मिलेगा लाभ - केन्द्रीय राज्यमंत्री

बीकानेर, 13 दिसम्बर 2017। केन्द्रीय जल संसाधन राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई सुविधा शुरू होने से यात्रियों को काफी लाभ मिलेगा। मेघवाल बुधवार को रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 6 पर, रेलवे द्वारा उपलब्ध कराई गई तेज व निःशुल्क वाई-फाई सेवाओं के शुभारम्भ अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि रेल यात्री व उन्हें छोड़ने-लेने आए लोग, इन्टरनेट के द्वारा पूरे विश्व से जुड़ सकेंगे। वे प्लेटफॉर्म पर इंतज़ार के दौरान अपने मोबाइल पर ताजा समाचार, मौसम सम्बन्धी नवीनतम जानकारियां प्राप्त कर सकेंगे तथा सोशल मीडिया, ई-मेल, डाउनलोडिंग, वीडियो कॉलिंग आदि भी कर सकेंगे।       

       मंडल रेल प्रबंधक ए के दूबे ने बताया कि ये सेवाएं बुधवार से शुरू कर दी गई हैं। पहले आधे घंटे के दौरान 30 से 40 एमबीपीएस स्पीड मिलेगी व फिर सामान्य स्पीड पर इन्टरनेट की सुविधा उपलब्ध रहेगी। इसके लिए 10 एक्सिस स्विच व 20 एक्सिस पॉइंट स्थापित किए गए हैं।   इस अवसर पर एडीआरएम सुरेश चंद्रा, डॉ. मीना आसोपा, जेडआरयूसीसी सदस्य नरेश मित्तल, सीनियर डीईएन एन के शर्मा, एसीएम जितेन्द्र शर्मा, डी के शुक्ला, ए के चोयल, हर्षवर्धन, डी पी पच्चीसिया, राजकुमार पारीक, पूनमचंद भाटी सहित बड़ी संख्या में रेलवे अधिकारी व आमजन उपस्थित थे।

यूं मिलेगी सुविधा - 

सीनियर डीसीएम सी आर कुमावत ने बताया कि आमजन को अपने मोबाइल, लेपटॉप आदि पर वाई-फाई सेटिंग पर रेलवायर नेटवर्क सलेक्ट कर, तंपसूपतमण्बवण्पद पर ब्राउजर खोलना होगा। फिर वाई-फाई लॉगिन स्क्रीन पर अपना फोन नंबर दर्ज कर, रिसीव एसएमएस दबाने पर एसएमएस के माध्यम से 4 डिजिट का ओटीपी कोड प्राप्त होगा। यह कोड वाईफाई लॉगिन स्क्रीन पर एंटर कर, डन प्रेस करना होगा। इसके बाद उपभोक्ता चेकमार्क दिखने पर तेज व निःशुल्क वाई-फाई से जुड़ सकेंगे।

- मोहन थानवी

Tuesday, December 12, 2017

कोठारी अस्पताल में उपलब्ध हैं कैंसर विशेषज्ञ डॉ रनदीप सिंह की परामर्श सेवाएं

कोठारी अस्पताल में गुडगांव के आर्टेमिस अस्पताल के कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष व डायरेक्टर डॉ. रनदीप सिंह की परामर्श सेवाएं प्रत्येक माह के दूसरे मंगलवार को उपलब्ध

बीकानेर 12/12/17 । गुडगांव के आर्टेमिस अस्पताल व कोठारी अस्पताल बीकानेर के संयुक्त तत्वाधान में डॉ. रनदीप सिंह ( डॉ सिंह गुडगांव के आर्टेमिस अस्पताल में कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष व डायरेक्टर है ) की परामर्श सेवाएं प्रत्येक माह के दूसरे मंगलवार को उपलब्ध कराई गई है। यह जानकारी देते हुए अधीक्षक डॉ ओपी श्रीवास्तव ने डॉ सिंह का परिचय पत्रकारों से करवाया। कोठारी अस्पताल बीकानेर में आर्टेमिस अस्पताल गुडग़ांव के कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. रनदीप सिंह ने प्रेस कॉन्फेंस को संबोधित करते हुए कहा कि विश्वभर में बीमारियों से होने वाली मौतों में कैंसर बीमारी दूसरे नंबर पर है।

डब्ल्यू एच ओ हर साल 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस मनाता है, ताकि इस भयावह बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता आये। भारत में कैंसर महामारी का रूप ले चुका है। डॉ. सिंह ने बताया कि इसके कई कारण है, जैसे कि बदलती हुए जीवन शैली, तम्बाकू या शराब का सेवन, मोटापा, पेस्टिसाइड एवं रासायनिकरण, जंक फूड व अनुवांकिश्क।

कैंसर की अज्ञानता के कारण हम इस बीमारी को प्रथम स्टेज पर नहीं पहचान पाते है, जिसकी वजह से मृत्यु दर बढ़ता जा रहा है। यह एक भ्रांति है कि कैंसर असाध्य रोग है, कैंसर रोग का इलाज संभव है अगर सही समय पर अनुभवी चिकित्सक से परामर्श लेकर इलाज करवाया जाये।

मेडिकल साइंस के शोध के अनुसार आधुनिक तकनीक व दवाईयों द्वारा कैंसर जैसी महामारी से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन इसके लिए आमजन में जागरूकता होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि अस्पताल का मुख्य उद्देश्य आमजन को जागरूक करना है कि कैंसर से परेशान नहीं होना है बल्कि इसका इलाज सही समय पर लेना है जो कि बीकानेर में भी संभव है।

- मोहन थानवी

Friday, December 8, 2017

बीकानेर में 40 करोड़ लीटर अतिरिक्त वर्षा जल भंडारण की क्षमता विकसित होगी

लूनकरनसर के सहजरासर में होगा  52.64 करोड़  के 4;421 जल स्वावलम्बन  कार्यों का आगाज

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान का तीसरा चरण 9 दिसम्बर से

बीकानेर में 40 करोड़ लीटर अतिरिक्त वर्षा जल भंडारण की क्षमता विकसित होगी

बीकानेर, 7 दिसम्बर 2017। लगभग 40 करोड़ लीटर अतिरिक्त वर्षा जल भंडारण की क्षमता विकसित करने के उद्दश्य और लक्ष्य के साथ  मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान का तृतीय चरण शनिवार को लूनकरनसर के सहजरासर में जिला स्तरीय समारोह के साथ प्रारम्भ होगा। इस   चरण में 15 ग्राम पंचायतों के 25 गांवों में जल संरक्षण से जुड़े 31 कार्य प्रारंभ होंगे।  इनमें 4270 टांका एवं रूफ टाॅप वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर, 17 तालाबों एवं जोहड़ के नवीनीकरण अथवा निर्माण, 55 डिग्गी अथवा जलहौज का निर्माण, वनीकरण एवं वृक्षकुंज के 28 तथा 51 अन्य कार्य प्रस्तावित हैं। समारोह में जल संसाधन मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री डाॅ. रामप्रताप, संसदीय सचिव डाॅ. विश्वनाथ मेघवाल, लूनकरनसर विधायक मानिक चंद सुराणा, प्रमुख शासन सचिव तथा जिला प्रभारी सचिव श्रीमती नीलकमल दरबारी आदि जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मौजूद रहेंगे। यह जानकारी देते हुए जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि तृतीय चरण की शुरुआत ‘पक्का जोहड़ जीर्णोद्धार एवं सुदृढ़ीकरण’ के साथ होगी।

तीसरे चरण में जिले में अब तक 52.64 करोड़ रुपये की लागत के 4;421 कार्य चिह्नित किए गए हैं। इनकी डीपीआर लगभग तैयार कर ली गई है तथा इन कार्यों को जून 2018 तक पूर्ण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।  
प्रेसवार्ता में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजीत सिंह राजावत, अधीक्षण अभियंता (जलग्रहण)  भागीरथ विश्नोई मौजूद रहे। 

विभिन्न वर्गों का मिला सहयोग

जिला कलक्टर ने बताया कि अभियान में सामाजिक-धार्मिक संगठनों, स्वयंसेवी तथा वाणिज्यिक संस्थाओं, कम्पनियों, सरकारी विभागों, सेना तथा अर्द्धसैनिक बलों, पुलिस तथा जनसामान्य को भी सक्रिय रूप से जोड़ा गया है। जिले में प्रथम चरण में लगभग 69.36 लाख तथा द्वितीय चरण में 116.70 लाख रू. का नकद एवं कार्य संपादन के रूप मंे सहयोग प्राप्त हुआ। इनमें नेयवेली लिग्नाइट काॅर्पोरेशन द्वारा दोनों चरणों में 107.50 लाख रू. के कार्य स्वयं के संसाधनों द्वारा संपादित किए गए। इनके अलावा नरसी कुलरिया ने 21.00 लाख तथा बीकाजी फूड काॅर्पोरेशन ने 6 लाख रुपये का नकद योगदान दिया। 
- मोहन थानवी

 

Wednesday, December 6, 2017

आशुभाषण स्पर्धा : डूँगर महाविद्यालय के रामनिवास राजपुरोहित प्रथम ; द्वितीय स्थान पर बेसिक कॉलेज के गौरी शंकर जोशी ; तृतीय स्थान पर महारानी सुदर्शन महाविद्यालय की विद्या भाटी

डूँगर महाविद्यालय में जिलास्तरीय स्पर्धा सम्पन्न

बीकानेर, 6 दिसम्बर। राजस्थान सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं पर आधारित दो जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन आयुक्तालय, महाविद्यालय शिक्षा के निर्देशानुसार डूँगर महाविद्यालय में सम्पन्न हुआ।

     प्राचार्य डॉ. बेला भनोत तथा सहायक निदेशक डॉ. दिग्विजय सिंह शेखावत ने दीप प्रज्वलित कर प्रतियोगिताओं का उद्घाटन किया। आशुभाषण स्पर्धा में जिले के विभिन्न महाविद्यालयों के विद्यार्थियों ने भाग लिया। इनमें डूँगर महाविद्यालय के रामनिवास राजपुरोहित ने प्रथम स्थान अर्जित किया। द्वितीय स्थान पर बेसिक कॉलेज के गौरी शंकर जोशी रहे तथा तृतीय स्थान महारानी सुदर्शन महाविद्यालय की विद्या भाटी ने प्राप्त किया।

     जिलास्तर की निबन्ध प्रतियोगिता भी आयोजित हुई जिसमें प्रतिभागियों ने राजस्थान सरकार की ‘भामाशाह योजना’विषय पर अपने निबन्ध प्रस्तुत किये। इस स्पर्धा में प्रथम स्थान नेहरू शारदा पीठ के मनोज कुमार ने प्राप्त किया और डूँगर महाविद्यालय के हीराराम तथा रूपनाथ सिद्ध ने क्रमशः द्वितीय तथा तृतीय स्थान प्राप्त किया। प्रथम तीन विजेताओं को जिला-प्रशासन के स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा।

     स्पर्धा में डॉ. इन्द्रा विश्नोई, डॉ, अनिला पुरोहित तथा डॉ. संजु श्रीमाली ने निर्णायक की भूमिका का निर्वहन किया। डॉ. प्रकाश अमरावत के संयोजकत्व में सम्पन्न इस कार्यक्रम का संचालन डॉ. राजनारायण व्यास ने किया। अन्त में डॉ सुमन लता मैनराय ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

- मोहन थानवी

Sunday, December 3, 2017

वंडर सीमेंट साथ:7 क्रिकेट महोत्सव में बीकानेर सहित 298 स्थानों पर तहसील स्तरीय मैच का फाईनल सफलतापूर्वक खेला

सात ओवरों में आर-पार; कुल 40 लाख के इनाम 

( श्रीराम प्लेयर्स की टीम ने धरणीधर की टीम को हरा बनी विजेता ) 

बीकानेर। वंडर सीमेंट साथ:7 क्रिकेट महोत्सव में बीकानेर सहित 298 स्थानों पर तहसील स्तरीय मैच का फाईनल सफलतापूर्वक खेला गया। रविवार को बीकानेर के सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज खेल मैदान में हुए तहसील स्तरीय फाईनल मैच में श्रीराम प्लेयर्स ने धरणीधर की टीम को हराया। पहले खेलते हुए धरणीधर की टीम ने निर्धारित सात ओवरों में 54 रन बनाकर ऑल आऊट हो गयी। लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीराम प्लेयर्स की टीम ने छठे ओवर में विजयी लक्ष्य हासिल कर लिया। बतौर अतिथि पहुंचे सेवानिवृत्त तहसीलदार गोपीकिशन, सत्यनारायण उपाध्याय, क्रिकेट प्रतियोगिता के कोर्डिनेटर राजीव शर्मा, आशीष पावा, गजेंद्र उपाध्याय ने श्रीराम प्लेयर्स की टीम को सात हजार रुपए का चैक, ट्रॉफी प्रदान की। क्रिकेट कमेंट्री राजीव शर्मा ने की। 

सात ओवरों में आर-पार; कुल 40 लाख के इनाम 

 जिला स्तर पर पहुंचने वाली प्रत्येक टीम को टी-शर्ट, लोअर, कैप दिए जाएंगे। जानकारी में रहे कि वंडर सीमेंट साथ:7 क्रिकेट महोत्सव 2017 क्रिकेट से जुड़ा विश्व का सबसे बड़ा उपभोक्ता समावेशी अभियान है, जहां भारत के तीन बजे राज्य राजस्थान, मध्यप्रदेश और गुजरात से 48 हजार लोग हिस्सा लेंगे। यह सात खिलाड़ी 7 ओवरों वाला रोमांचक खेल है जो हमारे राज्यों के सभी इलाकों के लोगों को मैदान में उतरकर अपनी प्रतिभा दिखाने का और अपने क्रिकेट के सपनों को हकीकत में बदलने का मौका होगा। तहसील स्तर से फाईनल तक टूर्नामेंट में विजेता टीमों को कुल 40 लाख रुपए के ईनाम दिए जाएंगे, जिसमें प्रतियोगिता जीतने वाली टीम को साढ़े तीन लाख रुपए का ईनाम दिया जाएगा। 

- मोहन थानवी

Wednesday, November 29, 2017

बीमा सेवा केन्द्र का शुभारम्भ

*खबरों में बीकानेर*/

बीकानेर 29 नवम्बर 2017।  भारतीय जीवन बीमा निगम के वरिष्ठ विकास अधिकारी हरीराम चौधरी के मुख्य बीमा सलाहकार भगवाना राम गोदारा के बीमा सेवा केन्द्र का शुभारम्भ जूनागढ़ पुराना बस स्टैण्ड  सादुल सिंह मूर्ति सर्किल के पास बीकानेर में हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय जीवन बीमा निगम के वरिष्ठ मण्डल प्रबन्धक सुधांशु मोहन मिश्र "आलोक" तथा विशिष्ट अतिथि कोलायत विधायक  भंवर सिंह भाटी थे। बीमा सेवा केन्द्र में निगम की पॉलिसियों के बारे में जानकारी तथा प्रीमियम जमा करवाने के साथ-साथ कई प्रकार की सुविधायें उपलब्ध होगी।

कार्यक्रम में श्री सुधांशु मोहन मिश्र ष्आलोकष् ने बीमा को आज व्यक्ति की मुख्य आवश्यकता बताते हुये कहा कि जहॉं गोवा राज्य में 79ः  जनसंख्या बीमित है वहीं राजस्थान में यह प्रतिशत मात्रा 20 है जो कि सोचनीय है । उन्होनें कहा कि व्यक्ति और समाज के लिये  आर्थिक सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है जिसकी पूर्ति बीमा के माध्यम से ही सम्भव है। उन्होंनें निगम की ष्बीमा ग्रामष् अवधारणा के बारे में बताते हुये कहा कि बीमा ग्राम घोषित होने वाले गांव को विकास के लिये निगम द्वारा आर्थिक अनुदान दिया जाता है । इसी क्रम में उन्होनेंं मुख्य बीमा सलाहकार श्री भगवाना राम गोदारा द्वारा पलाना ग्राम को दो बार बीमा ग्राम घोषित करवाने के लिये किये गये योगदान की प्रशंसा की। उन्होंने  बीमा सेवा केन्द्र के बारे में बोलते हुये कहा कि इससे आम जन को बीमा सम्बन्धी सेवायें आसानी से उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंनें कहा कि दूरस्थ स्थानों से आने वाले लोगों को कार्यालय समय के पश्चात भी प्रीमियम जमा करवाने से उन्हें काफी आसानी होगी वहीं अधिकाधिक लोगों को बीमा से जोड़ने में मदद मिलेगी। श्री मिश्र ने उद्घाटन कार्यक्रम में उपस्थित  पॉलिसीधारकों से अपनी सभी पॉलिसियों में आधार संख्या तथा पैन कार्ड विवरण जुड़वाने का आह्वान किया ताकि उन्हें उनकी पॉलिसियों में देय भुगतान समय से मिल सके क्योकि 1 जनवरी 2018 से इन्हें अनिवार्य कर दिया गया है।

कार्यक्रम में अपने विचार रखते हुये कोलायत विधायक श्री भंवर सिंह भाटी ने भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा बीमा के क्षेत्रा में किये जा रहे प्रयासों की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होनें कहा कि जो विश्वास सार्वजनिक बीमा उपक्रम ष्भारतीय जीवन बीमा निगमष् में लोगों का है वह निजी कम्पनियों में नहीं है। उन्होंनें वरिष्ठ मण्डल प्रबन्धक महोदय के बीमित जनसंख्या के कम प्रतिशत पर बोलते हुये कहा कि हम सभी को बीमा के महत्व को समझ कर जन-जन तक पहॅूंचाने की अलख जगानी होगी। उन्होंने बीमा के प्रचार-प्रसार में बीमा सेवा केन्द्र की महत्ता पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम में शाखा बीकानेर प्रथम के मुख्य प्रबन्धक श्री ए.के. श्रीपत ने सभी का स्वागत किया। निगम के वरिष्ठ विकास अधिकारी श्री हरिराम चौधरी ने सभी आगन्तुकों का आभार माना।
- मोहन थानवी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर 52.24 करोड़ रुपये का जुर्माना 

 *खेल जगत*/
*भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के ब्रॉडकास्टरों को यह आश्वासन दिया था कि वह 10 वर्षों तक आईपीएल प्रतिस्पर्धा के अनुरूप किसी भी अन्य व्यावसायिक घरेलू भारतीय टी-20 प्रतिस्पर्धा का आयोजन, मंजूरी, मान्यता या समर्थन नहीं देगा। इसके मद्देनजर भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) का कहना है कि क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की धारा 4 (1) और धारा 4 (2) (सी) का उल्लंघन कर रहा है।
सीसीआई के महानिदेशक द्वारा की गयी विस्तृत जांच में पता लगा है कि बीसीसीआई भारत में व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग/खेलों के क्षेत्र में दबदबा रखता है। उसकी गतिविधियों को देखते हुए उसके ऊपर अधिनियम के प्रावधान लागू होते हैं। खेल परिसंघों की भूमिका को देखते हुए और देश में खेलों के विकास के लिए उपरोक्त बाध्यता क्रिकेट के हित में नहीं है। इसके अलावा बाध्यता इसलिए लगाई गयी ताकि आईपीएल के प्रसारण अधिकारों के संबंध में बोली लगाने वालों के व्यापार हितों को बढ़ावा मिले। इसलिए पाया गया है कि इसमें प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की धारा 4 (1) और धारा 4 (2) (सी) का उल्लंघन हो रहा है। सीसीआई ने निम्नलिखित निर्देश दिये हैं-
1. बीसीसीआई अधिनियम की धारा 4 का उल्लंघन करने वाली गतिविधियां नहीं करेगा।
2. बीसीसीआई गैर-सदस्यों द्वारा व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग/प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए बाध्यता नहीं लगायेगा। बहरहाल, बीसीसीआई खेल के हित को ध्यान में रखते हुए नियम बनाने और उन्हें दुरूस्त करने का अधिकार रखेगा।
3. बीसीसीआई भारत में व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग/प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए लागू नियमों के मद्देनजर उचित स्पष्टीकरण जारी करेगा। इसके अलावा बीसीआई देश में क्रिकेट के विकास के लिए सभी संभव उपायों को सुनिश्चित करेगा।
4. बीसीसीआई आयोग द्वारा दिए जाने वाले सभी निर्देशों के संबंध में 60 दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगा।
भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर प्रतिस्पर्धा विरोधी रवैये के कारण 52.24 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
सीसीआई का उक्त आदेश सीसीआई की वेबसाइट www.cci.gov.in. पर उपलब्ध है। (pib)

Monday, November 27, 2017

सौ वर्ष में 7वीं बार हुआ 2500 वर्ष से अधिक प्राचीन जैन मूर्तियों का दर्शन

*खबरों में बीकानेर*/
बीकानेर, 27 नवम्बर 2017। जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ के गच्छाधिपति आचार्यश्री जिन मणिप्रभ सूरिश्वरजी की निश्रा में सोमवार को भुजिया बाजार के श्रीचिंतामणि आदिनाथ जिनालय में पांच सौ से दो हजार से अधिक वर्ष प्राचीन 1116 प्रतिमाएं जैन विधि विधान से निकाली गई। मंदिर में पांच दिवसीय प्राकट्य महोत्सव शुरू हुआ। महोत्सव के तहत सिद्धचक्र महापूजन व भक्ति संगीत संध्या का आयोजन हुआ। आचार्यश्री उनके सहवृति मुनिवृंद तथा साध्वीवृंद ने भी प्राचीन प्रतिमाओं के दर्शन व वंदना की तथा पूजा भागीदारी निभाई ।
चिंतामणि जैन मंदिर प्रन्यास के अध्यक्ष निर्मल धारिवाल ने बताया कि सोमवार को सिरोही के विधिकारक मनोज कुमार व बाबूमल हरण ने सविधि सिद्धचक्र महापूजन करवाया।
महोत्सव में श्री चिंतामणि जैन मंदिर प्रन्यास के साथ सकलश्रीसंघ, जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ संघ,अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद व महिला परिषद की स्थानीय इकाई का सहयोग तथा पार्श्वचन्द्रगच्छ के मुनि पुण्यरत्नचन्द्र, तपागच्छ के पंन्यास प्रवर पुण्डरीकरत्न विजय तथा साध्वीवृंद का सान्निध्य मिल रहा है। प्रथम दिन बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाओं ने दर्शन किए। भारत के विभिन्न इलाकों से श्रद्धालु प्राचीन प्रतिमाओं के दर्शन करने पहुंच रहे है।
सुरक्षा व्यवस्था-
मूर्तियों की सुरक्षा के लिए पुलिस के हथियारबंद सिपाही चौबीस घंटें मंदिर में तैनात रहेंगे। मंदिर के द्वार पर मैटल डिटेक्टर की भी व्यवस्था की गई है। मूर्तियों को निकालने व उनके अभिषेक में युवक परिषद व श्रद्धाभावी श्रावक-श्राविकाओं का अनुकरणीय योगदान रहा।
- मोहन थानवी

किसानों के साथ कांग्रेस प्रदेशभर में आंदोलन करेगी : पायलट

*खबरों में बीकानेर*/

 बीकानेर, 27 नवम्बर 2017। कांग्रेस किसानों का ऋण माफ कराकर ही रहेगी, इसके लिए चुनाव तक इंतजार नहीं करेंगे। जरुरत पड़ी तो किसानों के साथ कांग्रेस प्रदेशभर में आंदोलन करेगी। कांग्रेस हमेशा शिक्षा, चिकित्सा, किसान, स्वास्थ्य, रोजगार जैसे मुद्दों पर चुनाव लड़ती आयी है, और लड़ती रहेगी। ऐसा कहना है प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट का।  पायलट वायुमार्ग से दिल्ली से बीकानेर नाल एयरपोर्ट पहुंचने के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसानों को पिछले चार वर्षों से पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है, उनका ऋण माफ नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बीकानेर संभाग में सिंचाई का एक प्रमुख मुद्दा प्रभावित करता है, जिस पर सरकार गंभीरता नहीं दिखा रही है। किसानों को जो दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है उस पर सरकार को गंभीर होकर ध्यान देना चाहिए। इस अवसर पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव व राजस्थान के सहप्रभारी काजी मो. निजामूदीन, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट व राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी का नाल एयरपोर्ट पर  स्वागत किया गया।- मोहन थानवी

http://wp.me/p1o9Gx-im

Friday, November 17, 2017

बीते दशकों पर भारी न्यास अध्यक्ष रांका के एक वर्ष के कार्यकाल की उपलब्धि

*खबरों में बीकानेर* /

शहर का चहुंमुखी विकास मेरी सर्वोच्च प्राथमिकताः रांका
बीकानेर 17 नवंबर 2017।  नगर विकास न्यास अध्यक्ष का महत्वपूर्ण दायित्व मुझ जैसे साधारण कार्यकर्ता को दिए जाने के लिए मैं मुख्यमंत्री का हृदय से आभारी हूं। मेरा एक वर्ष का कार्यकाल शहर के विकास के प्रति समर्पित रहा तथा भविष्य में भी शहर का विकास मेरे लिए सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी।
        नगर विकास न्यास के अध्यक्ष महावीर रांका ने गुरूवार को न्यास कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान यह बात कही। इस अवसर पर नगर विकास न्यास सचिव आरके जायसवाल भी मौजूद थे। रांका ने कहा कि 18 नवंबर 2016 को न्यास में अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला। तब उनके सामने अनेक चुनौतियां थीं। नगर विकास न्यास के विरूद्ध 52 करोड़ रूपये की पुरानी देनदारियों लंबित थीं। इनका चुकता करते हुए न्यास को लाभ में लाना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता थी। उन्होंने इसके लिए वरिष्ठ जनप्रतिनिधियों के मार्गदर्शन; न्यास सचिव एवं समस्त अधिकारियों-कर्मचारियों का आभार जताते हुए कहा कि संयुक्त प्रयासों से पुराने दायित्वों का चुकता कर दिया गया।
        रांका ने बताया कि विकट परिस्थितियों में उन्होंने बतौर न्यास में अध्यक्ष को मिलने वाले मासिक वेतन; भत्ते एवं सुविधाओं को त्यागने का निर्णय लिया। उन्होंने बताया कि न्यास द्वारा वर्तमान में 101 करोड़ रूपये के विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। आगामी एक वर्ष में 225--250 करोड़ रूपये के विकास कार्यों का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

मिलेगी 15 हजार परिवारों को राहत

नगर विकास न्यास की जयनारायण व्यास योजना के सैक्टर 1-2-3-5-6 के बाबत माननीय सर्वोच्च न्यायालय का स्थगन आदेश वर्ष 2007 से प्रभाव में है। इस स्थगन के कारण लगभग 15 हजार भूखंड धारियों को नामांतरकरण, विक्रय एवं मोरगेज एनओसी आदि जारी नहीं हो पा रही हैं। इस समस्या के समाधान के लिए याचिकाकर्ता से वार्ता करते सैद्धांतिक सहमति प्राप्त कर ली गई है और शीघ्र ही आउट ऑफ कोर्ट सेटलमेंट कर समझौते की तैयारी की जा रही है। इस समझौते से लगभग 15 हजार परिवारों को राहत मिलेगी।

भूमि की प्रारम्भिक बोली दरों में की कमी

रांका ने बताया कि बतौर न्यास अध्यक्ष पदभार ग्रहण करने के बाद आय जुटाने के लिए सघन नीलामी कार्यक्रम आयोजित किए गए। भूमि की प्रारम्भिक बोली दरो में 25 से 30 प्रतिशत कमी कर बाजार दर के अनुरूप बनाया गया जिससे उनकी बिक्री की संभावना बढ़ सके। स्वर्ण जयंती विस्तार योजना, मोहता सराय योजना, हरोलाई हनुमान मंदिर योजना, अंत्योदय व्यावसायिक योजना के नवीन चरण लांच किए गए।

न्यास करवाएगा आरयूबी का निर्माण

        रांका ने बताया कि उनका प्रयास रहा है कि शहर के प्रत्येक क्षेत्र में विकास कार्य हों। उन्होंने शहर की कच्ची बस्तियों, अल्पसंख्यक एवं अनुसूचित जाति बाहुल्य क्षेत्रों के साथ लगभग हर क्षेत्र में विकास कार्य स्वीकृत करवाए हैं। हाल ही में डीआरएम के साथ बैठक के दौरान तीन प्रमुख रेलवे क्रॉसिंग पर आरयूबी बनाने संबंधी पहल की गई है। इनके निर्माण पर होने वाला समूचा व्यय न्यास द्वारा किया जाएगा।

बीते 365 दिनों की उपलब्धि

लगभग एक वर्ष पूर्व तक नगर विकास न्यास के विरूद्ध लगभग 52 करोड़ रूपये की देनदारियां थीं। वर्तमान में इन्हें चुकता करते हुए न्यास के खाते में 100 करोड़ रूपये से अधिक राशि जमा हो गई है।
नगर विकास न्यास द्वारा वर्तमान में 100 करोड़ रूपये के विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। इसी वर्ष दिसम्बर के अंत तक 225-250 करोड़ रूपये के विकास कार्यों का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
नगर विकास न्यास की जोड़बीड़ आवासीय योजना पर माननीय उच्च न्यायालय में विचाराधीन जनहित याचिका को याचिकाकर्ता से वार्ता कर हटवाते हुए जनहित याचिका का निस्तारण करवाया गया। इसके परिणामस्वरूप इस योजना के तहत उपलब्ध आवासीय, व्यावसायिक व अन्य श्रेणी के भूखंडों की नीलामी-आवंटन की राह आसान हुई। इस योजना के द्वितीय चरण में 250 भूखंड हैं। भूमि का भू-उपयोग परिवर्तन करवाकर आवासीय योजना विकसित की जाएगी।
नगर विकास न्यास की मुरलीधर आवासीय योजना के लगभग 300 आवंटियों को गत 32 वर्षों से अपरिहार्य कारणों से भूखंडों का कब्जा नहीं दिया जा सका था। इस कारण इन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा। न्यास अध्यक्ष महोदय द्वारा इस पर संवेदनशील पहल की गई। अब इन भूखंडधारियों को न्यास की मुरलीधर व्यास योजना व अन्य योजनाओं में वैकल्पिक भूखंडों के आवंटन की कार्यवाही की जाएगी।
नगर विकास न्यास की जयनारायण व्यास योजना के सैक्टर 1,2,3,5,6 के बाबत माननीय सर्वोच्च न्यायालय का स्थगन आदेश वर्ष 2007 से प्रभाव में है। इस स्थगन के कारण लगभग 15 हजार भूखंड धारियों को नामांतरकरण, विक्रय एवं मोरगेज एनओसी आदि जारी नहीं हो पा रही हैं। इस समस्या के समाधान के लिए याचिकाकर्ता से वार्ता करते सैद्धांतिक सहमति प्राप्त कर ली गई है और शीघ्र ही आउट ऑफ कोर्ट सेटलमेंट कर समझौते की तैयारी की जा रही है। इस समझौते से लगभग 15 हजार परिवारों को राहत मिलेगी और न्यास को लगभग 80-100 करोड़ रूपये की आय होगी।
न्यास की जोड़बीड़ आवासीय योजना में वर्ष 2008 में 858 व्यक्तियों को भूखंड आवंटित किए गए थे, लेकिन वर्ष 2012-17 तक माननीय उच्च न्यायालय के स्थगत के कारण इन भूखंडों के कब्जे नहीं दिए जा सके। वहीं दूसरी ओर इस अवधि का ब्याज एवं पैनल्टी की गणना कर भूखंडों की कीमत अधिक हो जाती है। न्यास द्वारा इन भूखंडधारकों के पक्ष में प्रस्ताव लेते हुए भूखंडधारियों को 375 रूपये प्रति वर्गमीटर के आधार पर आवंटन करने तथा इस अवधि का ब्याज व पैनल्टी माफ करने का निर्णय लिया गया है। यह प्रस्ताव राज्य सरकार के अनुमोदनार्थ भिजवाया गया है।
नगर विकास न्यास द्वारा लगभग 4 करोड़ रूपये की लागत से भारत माता पार्क का निर्माण करवाया जाना प्रस्तावित है।
माननीय प्रधानमंत्री महोदय एवं माननीय मुख्यमंत्री महोदया के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के संकल्प से प्रेरित होकर नगर विकास न्यास द्वारा लगभग 4 करोड़ रूपये की लागत से ‘बेटी गौरव उद्यान’ का निर्माण करवाया जाना प्रस्तावित है।
बीकानेर के पुराने शहर को नोखा रोड से जोड़ने के लिए लगभग 4.50 करोड़ रूपये की  लागत से वैकल्पिक मार्ग का निर्माण कार्य प्रगतिरत है। इस मार्ग के निर्माण से शहरवासियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक आने में 2.5 किलोमीटर कम दूरी तय करनी पड़ेगी।
बीकानेर के प्रमुख 50 पार्कों का समुचित विकास करवाए जाने की निविदाएं जारी कर दी गई हैं। इन पर लगभग 7 करोड़ रूपये व्यय होने का अनुमान है। इन पार्कां में ओपन जिम का निर्माण होगा। बच्चों के मनोरंजन के लिए झूले लगाए जाएंगे। दूब तथा बहुउपयोगी पौधों के माध्यम से इन्हें हरा-भरा बनाने के साथ, अन्य सिविल एवं विद्युत कार्य करवाए जाएंगे।
रविन्द्र रंगंमच एवं टाउन हॉल के समीप क्षेत्र में केफैटेरिया, पार्किंग स्थल, ओपन एयर थिएटर आदि बनवाए जा रहे हैं।

शनिवार को आयोजित होगा कार्यक्रम
        नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका ने बताया कि उनके बतौर अध्यक्ष एक वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने पर शनिवार को प्रातः 11 बजे से रविन्द्र रंगमंच में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान एक वर्ष की उपलब्धियों तथा भावी योजनाओ से संबंधित पुस्तिका एक कदम विकास की ओर का प्रकाशन किया जाएगा तथा विकास कार्यों पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन होगा।
- मोहन थानवी