Monday, October 1, 2012

Lakhdaad... Madhu Acharya Aashawadi ji bikaner & All

Mr Madhu Acharya Aashwadi in lining shart
badhaiyan.... lakhdaad... Madhu Acharya Aashawadi ji bikaner / Atul Kank ji Kota sahit prakashan ke liye pandulipi chayan par sambandhit  sabhi rajasthani sahitykaron ko lakhdaad ...
राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, बीकानेर के अध्यक्ष श्री श्याम महर्षि द्वारा वर्ष २०१२-१३ की पांडुलिपि सहयोग योजनान्तर्गत ५७ राजस्थानी पाण्डुलिपियों पर ५ लाख ७७ हजार रूपये की सहयोग राशि की घोषणा की गई है ।
स्वीकृति के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए महर्च्चि ने बताया कि इस बार २० जिलों एवं एक प्रवासी राजस्थानीे साहित्यकारों की ५७ पाण्डुलिपियों को सहयोगार्थ स्वीकार किया गया है । स्वीकृत पाण्डुलिपियों में ३ उपन्यास, ११कहानी संग्रह,२१ गीत, गजल, हाइकू, दूहा एवं कविता संग्रह, २ नाटक की पाण्डुलिपियां, ३लोक साहित्य,   ४ अनुवाद कृतियां, २ आलोचना, ६ निबंध कृतियां और ५ बाल साहित्य की पाण्डुलिपियों को आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया गया है ।  इस बार कुल १२ महिला रचनाकारों की पाण्डुलिपियों को स्वीकार किया गया है । उन्होंने बताया कि १६ कृतियों को १२-१२ हजार, ३६ पाण्डुलिपियों को १० हजार प्रत्येक या किएवं बाल साहित्य की ५ पाण्डुलिपियों को ५ हजार प्रत्येक का आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया गया है ।